Nashik Municipal Corporation

    नाशिक. स्कूल-महाविद्यालय (School-College) सुचारू करने के लिए शिक्षा विभाग (Education Department) ने 5 सितंबर (September) तक टीकाकरण (Vaccination) की सख्ती करने के बाद भी नाशिक महानगरपालिका (Nashik Municipal Corporation) के 598 शिक्षकों (Teachers)ने एक भी टीका न लेने की जानकारी सामने आई है। विशेष यह है कि गैर शिक्षण (Non Teaching)220 कर्मचारी शामिल होने से आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है।

    कोरोना महामारी के चलते स्कूल-महाविद्यालय आज भी पूरी क्षमता से शुरू नहीं हो पाए है। परंतु अनेक जगह पर ऑनलाईन शिक्षा में आने वाली समस्या और प्रात्यक्षिक शिक्षा के अभाव के चलते स्कूल शुरू करने की मांग की जा रही है। इस पार्श्वभूमी पर स्कूल शुरू करने के लिए उपाय योजना की जा रही है। इसी सिलसिले के तहत शिक्षक और गैर शिक्षण कर्मचारियों का 100 प्रतिशत टीकाकरण करने की सख्ती की गई थी।

    स्कूल शुरू करने के महत्वपूर्ण नियम के तहत नाशिक महानगरपालिका द्वारा पहली से बारावी तक शिक्षक और  गैर शिक्षण कर्मचारियों के टीकाकरण का जायजा लिया गया। इसके तहत 8 हजार 306 शिक्षक और 1 हजार 971 गैर शिक्षण ऐसे कुल 10275 कर्मचारियों में से 4 हजार 589 शिक्षक और  820 गैर शिक्षण कर्मचारियों ने दो टीके लिए। तो वहीं 3 हजार 182 शिक्षक और 940 गैर शिक्षण कर्मचारियों ने एक टीका लिया। निम्न के अलावा 598 शिक्षक और 220 गैर शिक्षण कर्मचारी ऐसे कुल 818 व्यक्तियों ने एक भी टीका नहीं लेने की जानकारी सामने आई। टीका न लेने वाले शिक्षक और गैर शिक्षण कर्मचारियों को जल्द से जल्द टीका लेने की सूचना महानगरपालिका के शिक्षा विभाग ने दी।

    सभी शिक्षकों का टीकाकरण करने की जिम्मेदारी संबंधित स्कूल के मुख्याध्यापकों को दी गई है। इसके तहत आज भी जिन शिक्षकों ने एक भी टीका नहीं लिया है ऐसे व्यक्तियों की जांच कर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसके अलावा जो शिक्षक और गैर शिक्षण कर्मचारी टीका लेने के लिए तैयार नहीं है उन्हें वैद्यकीय मंडल से फिटनेस प्रमाणपत्र ले सकते है।

    - सुनीता धनगर, शिक्षाधिकारी, महानगरपालिका, नाशिक