नाशिक में बगैर हेल्मेट पेट्रोल देने पर होगी पेट्रोल पंप पर कार्रवाई

    नाशिक: नाशिक (Nashik) में हेल्मेट (Helmet) सख्ती को लेकर पुलिस कमिश्नर दीपक पांडेय (Police Commissioner Deepak Pandey) विविध उपक्रम कार्यान्वित कर रहे हैं। इसके तहत अब उन्होंने बगैर हेल्मेट (Without Helmet) पेट्रोल (Petrol) देने पर पेट्रोल पंप (Petrol Pump) पर कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। नाशिक में अगस्त माह में 9 बाइक चालकों का विविध जगह हुई दुर्घटना में मौत हुई। मरने वाले वाहन चालकों ने हेल्मेट नहीं पहना था। इस सिलसिले को रोकने के लिए पुलिस आयुक्त ने 15 अगस्त को शहर के सभी पेट्रोल पंप पर नो हेल्मेट, नो पट्रोल योजना शुरू की, लेकिन अनेक वाहन चालकों ने इस अभियान को ठेंगा दिखाया। वह केवल पंप पर हेल्मेट का उपयोग कर रहे थे। 

    अनेक पेट्रोल पंप चालक हेल्मेट का उपयोग न करने वाले वाहन चालकों को पेट्रोल देने की बात सामने आई। इसके चलते पुलिस कमिश्नर ने अब फ्लाइंग स्कॉड तैयार किए हैं। यह स्कॉड शहर में दौरा कर बगैर हेल्मेट वाहन चालकों को पेट्रोल देने वाले पंपों पर कार्रवाई सुनिश्चित कराएंगे।

    काउंसिलिंग भी करवाया

    पुलिस कमिश्नर ने हेल्मेट का उपयोग न करने वाले वाहन चालकों का काउंसिलिंग भी करवाया। इसके तहत चालक से तुरंत दंड नहीं तो 2 घंटे काउंसिलिंग करवाया। इसका कुछ हद तक फायदा भी हुआ। इसके बाद कमिश्नर दीपक पांडेय ने एक अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है। इसके तहत नाशिक शहर के सरकारी और गैरसरकारी कार्यालय में अब बगैर हेल्मेट प्रवेश नहीं दिया जाने वाला है। 6 नवंबर से यह योजना लागू होगी।

    दंड वसूली में होता है सेटलमेंट

    बगैर हेल्मेट प्रवास करने वालों से 500 रुपए, ट्रिपल सीट प्रवास करने वालों से 200 रुपए, सिग्नल तोड़ने पर 200 रुपए, रांगसाइड वाहन चलाने पर एक हजार रुपए दंड लिया जाता है, लेकिन अनेक नागरिक दंड भरने के लिए आनाकानी करते हैं। दंड करने पर पुलिस से विवाद करते हैं तो कई जगह पर पुलिस दंड में सेटलमेंट कर वाहन चालकों को छोड़ देते हैं।

    डंके की चोट पर करते हैं रांगसाइड से प्रवास

    नाशिक में वाहन चालक यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं। डंके की चोट पर चार पहिया और बाइक वाहन चालक रांगसाइड प्रवास के साथ बाइक से ट्रिपल सीट यात्रा, हेल्मेट का उपयोग न करना, तेज रफ्तार से वाहन चलाना, सिग्नल नियमों का पालन न करना आदि नियमों का उल्लंघन करते हैं। इसके चलते दुर्घटनाएं बढ़ गई है इसलिए पुलिस कमिश्नर ने हेल्मट सख्ती शुरू की है।