Citizens support needed for strong Nashik district: Chhagan Bhujbal

    इगतपुरी. हमारा पहला उद्देश्य कोरोना (Corona) की स्थिति पर काबू पाना और नाशिक (Nashik) को एक मजबूत जिला बनाना है। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण राज्य मंत्री एवं नाशिक जिले के पालक मंत्री छगन भुजबल (Chhagan Bhujbal) ने कहा कि इसके लिए पूरे जिले के नागरिकों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होगी। यह बात उन्होंने घोटी ग्रामीण अस्पताल (Ghoti Rural Hospital) में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र के उद्घाटन के अवसर पर कही।

    इस अवसर पर विधायक हिरामण खोसकर, पूर्व आमदार शिवराम झोले, जिला परिषद सदस्य उदय जाधव, सरपंच अलका जाधव, पूर्व जिला परिषद सदस्य गोरख बोडखे, संदीप गुलवे, बालासाहेब गाढवे, स्वास्थ उपसंचालक पी.डी. गांडाल, जिला शल्यचिकित्सक डॉ. अशोक थोरात, जिला स्वास्थ अधिकारी कपिल आहेर, निवासी चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रशांत खैरे, डॉ. संजय सदावर्ते आदि उपस्थित थे। इस मौके पर पालक मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि दूसरी लहर कोरोना की पहली लहर से भी ज्यादा भयानक थी और ऑक्सीजन की मांग काफी बढ़ गई थी। ऐसे में सरकार-प्रशासन ने सफलतापूर्वक ऑक्सीजन की योजना बनाई।

    स्वास्थ्य कर्मियों ने बहुमूल्य योगदान दिया

    जिले को 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत थी। जो अब काफी हद तक बढ़ गई है, जिससे नाशिक जिले के सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र लगाए जा रहे हैं। जिले में 29 जगहों पर ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसलिए अस्पतालों को 24 घंटे ऑक्सीजन उपलब्ध रहेगी। कोरोना काल में डॉक्टरों और नर्सों सहित सभी स्वास्थ्य कर्मियों ने बहुमूल्य योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर की पृष्ठभूमि में सरकार ने ट्रिपल ऑक्सीजन का उत्पादन करने के निर्देश जारी किए हैं। तदनुसार, 350 मीट्रिक टन की व्यवस्था की गई है और हम 400 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन करेंगे। ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट के साथ-साथ लिक्विड ऑक्सीजन भी मुहैया कराई जा रही है। इसलिए संचारी रोगों सहित अन्य अवधियों के दौरान अस्पताल में नियमित ऑक्सीजन उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि जिले में दस से ज्यादा प्लांट शुरू किए जा चुके हैं और जल्द ही अन्य प्लांट भी शुरू किए जाएंगे।

     नाशिक-मुंबई रोड की हालत बहुत खराब हो गई है

    सरकार कोरोना की पृष्ठभूमि में सभी जरूरी कदम उठा रही है। उन्होंने नागरिकों से कोरोना के नियमों का पालन करने की अपील की और आगे कहा कि नाशिक-मुंबई रोड की हालत बहुत खराब हो गई है। नाशिक-मुंबई सड़क के इस काम के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर सड़क को मजबूत करने की मांग की गई है। अधिकारियों के साथ बैठक भी हुई है और 15 अक्टूबर तक सड़क का काम पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना की विकट परिस्थिति में सरकार विकास कार्यों का मार्ग प्रशस्त करने को प्राथमिकता दे रही है। विधायक हीरामन खोसकर ने कहा, ‘हम पिछले दो साल से कोरोना की समस्या से जूझ रहे हैं। इस संबंध में सरकार द्वारा विभिन्न उपाय किए जा रहे हैं। पालक मंत्री छगन भुजबल की संकल्पना के तहत जिले में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज एक ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित किया जा रहा है और उम्मीद है कि घोटी स्थित अस्पताल को उप-जिला अस्पताल में बदल दिया जाएगा।