Leena Bansod

    नाशिक : जिल्हा परिषद (District Council) के नए सभागृह में ग्रामीण जलापूर्ति विभाग (Rural Water Supply Department) की बैठक मुख्य कार्यकारी अधिकारी लीना बनसोड (Leena Bansod) की अध्यक्षता में हुई। पूरे जिले में जलापूर्ति संबंधी जारी कार्यो की मुख्य कार्यकारी अधिकारी लीना बनसोड ने इस मौके पर तहसील स्तर पर समीक्षा की। जलजीवन मिशन कार्यक्रम के तहत, केवल एकाधिकारवादी जिसे कार्य सौंपा गया है या उसकी और आधिकारिक तौर पर नियुक्त व्यक्तियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वास्तविक कार्य पर बने रहें। साथ ही यदि कोई कार्य अन्य अपंजीकृत इजारेदारों को दिया गया पाया जाता है तो संबंधित ठेकेदार का एकाधिकार तत्काल निरस्त कर दिया जाएगा। 

    समय-समय पर योजना की समीक्षा करें

    समीक्षा बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि जलजीवन मिशन कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए सभी उप अभियंताओं और शाखा अभियंताओं ने समय-समय पर योजना की समीक्षा और प्रत्यक्ष निरीक्षण किया और कार्य में किसी प्रकार का समझौता किये बिना गुणवत्ता और निर्धारित समय के अन्दर कार्य को गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने हेतु नियोजन निर्देश दिए। 

    उन्होंने कहा कि जलजीवन मिशन कार्यक्रम के तहत किसी भी कार्य को समय विस्तार नहीं दिया जायेगा। ग्रामीण जलापूर्ति विभाग की ओर से हर तीन महीने में जलजीवन मिशन कार्यक्रम के तहत समीक्षा बैठक आयोजित करने के निर्देश दिये गए हैं। समीक्षा बैठक में कार्यकारी अभियंता पुरुषोत्तम भांडेकर, सभी तहसीलों के उप अभियंता, कनिष्ठ अभियंता के साथ-साथ  विनोद देसले, महेंद्र पवार, प्रमोद निर्गुड़े, प्रदीप अहिरे, कौशल पात्रे, हर्ष पजाई समेत अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।