Elderly farmer murdered in Kotbel, one arrested

    सटाणा. खेत में रहने वाले बुजुर्ग किसान (Elderly Farmer) की तीन युवकों (Youths) ने कुल्हाड़ी (Axe) से वार कर हत्या कर दी। घटना का पता गुरुवार (Thursday) सुबह कोटबेल के घुबडदरा गांव में लगा। जायखेड़ा पुलिस (Jaikheda Police) मामले इस में एक संदिग्ध को पकड़ने में कामयाब रही है और हत्या (Kill) के मकसद का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन अफवाह है कि उसे हत्या करने की सुपारी (Contract) दी गई थी।  मृतक की पहचान तहसील के कोटबेल निवासी सहादु रामचंद्र खैरनार (77) के रूप में हुई है।  सहादु खैरनार अपनी पत्नी के साथ कोटबेल के घुबडदरा शिवार में रह रहे थे क्योंकि उनकी कोई संतान नहीं थी। 

    गुरुवार तड़के करीब दो बजे जब दंपति सो रहे थे तभी दो अज्ञात लोगों ने उनके घर का दरवाजा तोड़कर घर में प्रवेश किया।  जब खैरनार की पत्नी ने चिल्लाने की कोशिश की तो उन्होंने उसे पीटा और मुंह पर थप्पड़ मार दिया।  इसके बाद उन्होंने सहादु खैरनार के सिर में कुल्हाड़ी से वार कर दिया।  चोटों के कारण खैरनार ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जब यह सुनिश्चित हो गया कि खैरनार मर चुका है तो तीनों हमलावर वहां से फरार हो गए।  उनकी पत्नी के चिल्लाने पर इलाके के किसान दौड़कर खैरनार के घर पहुंचे और सहादु खैरनार को खून से लथपथ पाया।  किसानों ने घटना की जानकारी पुलिस पाटील साहेबराव कांदलकर को दी।

    कांदलकर ने जायखेड़ा थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक श्रीकृष्ण पारधी को भी बिना देर किए सूचित किया।  पुलिस ने तुरंत जांच शुरु कर दी और एक व्यक्ती को गिरफतार कर लिया गया जबकि दूसरे दो फरार होने में सफल रहे।  आरोपी की उम्र महज 20 साल है और उसका नाम पंकज चौधरी है।  वह धुलिया जिले के नेर का रहने वाला है और उसके अन्य साथी भी इसी आयु वर्ग के हैं। इस संबंध में हत्या का मामला दर्ज किया गया है।  यहां देर शाम मालेगांव के अपर पुलिस अधीक्षक चंद्रकांत खांडवी ने मौके का दौरा किया।  इस बीच, खैरनार ने कुछ दिन पहले अपनी खेती की जमीन बेच दी थी। लेन-देन भी पूरा नहीं हुआ था।  हमलावरों ने भी किसी पैसे की मांग नहीं की थी, जिसे पूर्व नियोजित हत्या बताया जा रहा है।