Flood in Godavari river of Nashik, double-faced Maruti submerged till waist

    नासिक. नासिक (Nashik) में गोदावरी नदी (Godavari River) में इस साल की पहली बाढ़ आई है। दोपहर तक बाढ़ का पानी गोदावरी के बीच स्थित दोमुखी मारुति (Maruti) की कमर तक पहुंच चुका था। नासिक जिले के बांध क्षेत्रों में पिछले दो दिनों से भारी बारिश (Heavy Rains) हो रही है। इसलिए नासिक शहर को पानी की आपूर्ति करने वाले गंगापुर बांध (Gangapur Dam) 98 फीसदी, दारणा बांध (Darna Dam) 97 फीसदी, नांदूर-माधमेश्वर परियोजना 93 फीसदी, कश्यपी 73 फीसदी और मुकणे, भाम, भावली, आलंदी छोटे बांध 100 फीसदी भरे हुए हैं।

    गंगापुर बांध से सोमवार  सुबह 9 बजे 2500 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। पालखेड़ बांध के जलग्रहण क्षेत्र में भी लगातार बारिश हो रही है। नतीजा यह रहा कि सोमवार  सुबह आठ बजे पालखेड़ बांध से 800 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। भारी बारिश और बांधों के कारण गोदावरी नदी में उम्मीद के मुताबिक बाढ़ आ गई है।

    हटा दी गईं रामकुंड, गोदाघाट की दुकानें 

    गंगापुर बांध से पानी की निकासी जारी है। बांध भर रहा है, इसलिए गोदावरी में कभी भी बाढ़ आ सकती है। इसे देखते हुए गोदाघाट क्षेत्र के रामकुंड स्थित दुकानों को शिफ्ट कर दिया गया है। नागरिक नदी में न आएं, प्रशासन ने निर्देश दिया है।

    वाल्देविक की बाढ़ में एक व्यक्ति बह गया

    वालदेवी नदी में बारिश के कारण बाढ़ आ गई है। दाढेगांव के वसंत लक्ष्मण गांगुर्डे (45) बाढ़ के पानी में बह गया। वह शाम को पुल पार कर रहा था। तभी यह घटना घटी। इस नदी पर बना पुल खतरनाक हो गया है। यहां से दाढेगांव, पाथर्डी और पिंपलगांव खांब के नागरिकों का आवागमन होता है। नदी का पानी बढ़ा तो दाढेगांव जाने वाला रास्ता बंद हो जाता है। इसलिए यहां नया पुल बनाया जाए। तीनों गांवों के ग्रामीण मांग कर रहे हैं कि इसे ऊंचा किया जाए।

    मंगलवार  को भारी बारिश के आसार

    नासिक जिले में सोमवार को भारी बारिश हो रही है। मंगलवार  को भारी बारिश के आसार हैं। विशेष रूप से कलवण, सटाणा, मालेगांव और देवला तहसीलों में बारिश की तीव्रता में वृद्धि होगी। खानदेश में भी उच्च वर्षा होने की संभावना है। अगले दो दिनों में विदर्भ, नंदुरबार, धुलिया, जलगांव, नाशिक, अहमदनगर, पुणे, सातारा, सांगली, कोल्हापुर और सोलापुर जिलों में भारी बारिश की संभावना है।