Heavy rain in Nashik, many areas of the city submerged

    नाशिक. नाशिक शहर (NashikCity) में मंगलवार किसुबह 4 बजे से लगातार बारिश (Rain) हो रही है।  मौसम विभाग ने पूरे नाशिक जिले में दिन भर भारी बारिश की संभावना जताई है। लगातार कई घंटों की रिमझिम से पूरा नाशिक शहर और जिला जलथल हो गया है। समाचार लिखे जाने तक बारिश शुरु हुए पूरे 12 घंटे हो गए हैं।  सितंबर के महीने में नाशिक शहर और जिला पूरी तरह से बारिश की चपेट में आ गया है। 

    बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती तूफान ने एक बार फिर बारिश शुरु कर दी है। गणेशोत्सव के दस दिनों के दौरान हर दिन बारिश होने लगी।  अब तक गोदावरी में दो बार बाढ़ आ चुकी है।  नांदगांव और मनमाड जैसे इलाकों में जहां कभी भारी बारिश नहीं हुई उस शहरों में भी बाढ़ आ गई और करोड़ों का नुकसान हुआ। इससे खरीफ की फसल काभारी नुकसान हुआ है।  अब एक बार फिर बारिश बढ़ने से खेतों में बची हुई फसल भी नष्ट होने की संभावना जताई जा रही है।

    सुरक्षित स्थान पर रहने की सलाह

    मुंबई क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, 28 सितंबर को नाशिक समेत कुछ जिलों में भारी बारिश और नाशिक जिले के कुछ हिस्सों में गरज के साथ बारिश होने की संभावना जताई गई थी।  इस संबंध में, नागरिकों को जिले में जीवन और वित्त के नुकसान से बचने के लिए सुरक्षित स्थान पर रहने की सलाह दी गई है।  इसी तरह, बाढ़ संभावित क्षेत्रों के सभी गांवों को नदी-नाला किनारे रहने वाले लोगों को सतर्क किया जा रहा है। किसी को भी नदी और बांध में प्रवेश ना करने के लिए चेतावनी दी जा रही है। 

    जिले में येल्लो और रेड अलर्ट 

    नाशिक का पानी की आपूर्ती करने वाले गंगापूर बांध में 100% पानी भरा हुआ है और एक बार फिर यहां के दरवाजे खोल कर पानी छोड़ दिया गया है। आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के स्थानीय डिप्टी कलेक्टर एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी भागवत दोईफोडे ने नागरिकों से अपील की है कि वे अपने पशुओं और वाहनों को सुरक्षित स्थान पर रखें। इस बीच, मौसम विभाग ने तूफान गुलाब के कारण उत्तरी महाराष्ट्र में भारी बारिश की संभावना जताई है।  नाशिक जिले को येल्लो और जलगांव को रेड अलर्ट जारी किया गया है।