In the dispute of love affair, the lover burnt the girlfriend, two women in the grip of fire

    नाशिक. पंचवटी परिसर (Panchavati Complex) के शिंदे नगर (Shinde Nagar) स्थित भाविक बिलाजियो सोसायटी के घर में घुसकर पेट्रोल (Petrol) डालकर मेहमान के रूप में आई हुई एक महिला को फुंकने की घटना सामने आई है। इस घटना में दो महिलाये झुलस गई जबकी, एक बुर्जग महिला सहित दो बच्चे सुरक्षित बच गये है। इस मामले में पंचवटी पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

    पुलिस सुत्र और पीड़ित परिवार के लोगों ने बताया कि, शिंदे नगर परिसर के भाविक बिलाजियो इस इमारत में प्रदीप ओमप्रकाश गौड़ आपनी मां, पिता, पत्नी, भौजी और बच्चो के साथ रहते है। मंगलवार की सुबह उनके घर उनकी मौसी भारती गौड़ आई थी। इस दौरान मौके पर पहुंचे रिक्शा चालक सुकदेव कुमावत आया भारती गौड़ को पिटना शुरू किया और बोतल में भरकर लाया हुआ पेट्रोल घर में छिड़कर उसे चिंगारी लगाकर फरार हो गया। इस दौरान घर में प्रदीप गौड़ की मां सुशीला गौड (65), दादा जानकीदास गौड़ (85), पार्थ गौड़ (15), चिराग गौड़ (3), मौसी भारती गौड़ (55) मौजूद थें। चिल्लापुकार की आवाज सुनकर पार्थ ने  बेडरूम का दरवाजा लगाकर आपने पिता और मां को फोन के माध्यम से घटना की जानकारी दी।

    आगजनी की इस वारदात में सुशीला गौड़ और भारती गौड़ यह दोनों बहने गंभीर रूप से झुलस गई। आसपास के लोगों ने दमकल विभाग और पुलिस को इससे अवगत किया। आग को काबू करने का प्रयास किया गया। आग इतनी भड़क चुकी थी कि, घर का सिलींग फॅन जलकर पिघल गया।  छत का प्लास्टर, टीवी, खिड़की की कांच गर्मी से पिघल गई। घर का फर्नीचर सहित अन्य सामग्री जलकर खाक हुई। सावधानी बरतने के कारण तीन वर्ष का चिराग, पार्थ सुरक्षित बचे।  जानकारी मिलने के बाद वरिष्ठ निरीक्षक अशोक भगत, पुलिस निरीक्षक अशोक साखरे, महिला पुलिस उपनिरीक्षक अश्विनी उबाळे मौके पर पहुंचकर मुआयना किया।  

    भारती ने दर्ज किया बयान 

    भारती गौड़ इस महिला के सुकदेव कुमावत के साथ विगत कुछ महिनों से अनैतिक संबंध थे। सुशीला गौड़ के घर पहुंचकर उसने ने भारती को निचे बुलाया।  लेकिन उसने इंकार करने से अक्रोशित होकर सुकदेव पेट्रोल की बाेतले लेकर घर में पहुंचा। जिसने पेट्रोल भारती के शरीर पर छिड़क कर उसे आग के हवाले किया। बहन को बचाने के लिये सुशीला आगे बढ़ी। इसमें दोनो गंभीर रूप से घायल होने का बयान भारती गौड़ ने  दर्ज कराया।  

    आरोपी गिरफ्तार  

    पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर तत्काल जांच प्रारंभ की। इस बीच पुलिस को भारती को फुंकने के बाद कुमावत नगर निवासी रिक्षाचालक सुकदेव गुलाब माचेवाल उर्फ कुमावत दिंडोरी की तरफ जाने की जानकारी मिली। इसके बाद पुलिस पथक दिंडोरी की ओर रवाना हुआ। इस दौरान लखमापूर फाटा में रिक्षा का पेट्रोल समाप्त होने के कारण पैदल जाता हुआ पुलिस को मिला। जिसके पैर और हाथ झुलसे हुए थे। जिसे पुलिस ने इलाज के लिये जिला अस्पताल में भर्ती किया। जिसके खिलाफ पंचवटी पुलिस ने हत्या का प्रयास करने का प्रकरण दर्ज किया है। वरिष्ट पुलिस निरीक्षक अशोक भगत मामले की अधिक जांच कर रहे है।