Leopard
File Pic

    त्र्यंबकेश्वर:  दुगारवाड़ी कलमुस्ते (Dugarwadi Kalmuste) में तेंदुए (Leopard) ने दो बालकों पर हमला (Attack ) किया। इसमें दो बालक गंभीर रूप से घायल हुए है। जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल (District Hospital) में भर्ती किया गया है। जिले में तेंदुओं का संचार आम बात है, लेकिन विगत कुछ महिनों से तेंदुए बस्तियों में आकर बड़े और छोटे बालकों पर हमला कर रहे है। इससे परिसर के नागरिक भयभीत है। कुछ दिनों पूर्व इगतपुरी (Igatpuri) में इसी प्रकार की घटना सामने आई थी। 

    दुगारवाड़ी परिसर के कलमुस्ते में भिवाजी गोविंद सोहले (12) और विशाल सुरूम (8) नामक दो बच्चे सुबह शौच के लिए गए थे। इस दौरान घात लगाकर बैठे हुए तेंदुए ने बालकों पर हमला किया। बालकों की शोर सुनकर ग्रामीण दौड़े तो भीड़ देखकर तेंदुआ भागा। दो में से एक बालक की स्थिति चिंताजनक है। जिन्हें सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है। ग्रामीणों ने वन विभाग के पास परिसर में पिंजरा लगाने की मांग की है।

    अब तक तीन की मौतें

    तेंदुए के हमले में इस वर्ष नाशिक जिले के तीन लोगों ने अपनी जान गंवाई है। इसमें दरेवाड़ी निवासी 10 वर्ष का बालक, खेडगांव निवासी 10 वर्ष का बालक व खैरगांव निवासी 80 वर्षीय महिला शामिल है। विगत वर्ष में इगतपुरी तहसील के आधारवड में 10 वर्षीय बालक, पिंपलगांव मोर में 11 वर्षीय कन्या, कुरुंगवाड़ी निवासी 80 वर्षीय महिला व चिंचलखैरे में 10 वर्षीय बालक की मौत हुई थी। करीब 4 लोग घायल हुए। इस दौरान 10 तेंदुए को वन विभाग ने पिंजरे में कैद किया है।