Long line of vehicles at octroi naka, violation of rules

    इगतपुरी : मुंबई – नाशिक (Mumbai-Nashik) मार्ग पर दिपावली की छुट्टियां (Diwali Holidays) खत्म होते ही चुंगी नाका हाईवे (Chungi Naka Highway) पर भी वाहनों की भारी भीड़ पिछले 2 दिनों से देखी जा रही है। चुंगी नाके पर कभी फास्टैग (Fastag) काम नहीं कर रहे हैं तो कभी अधिक वाहनों के जाम लग जाने से वाहनों को आने बढ़ने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है।

    यात्रियों की आम शिकायत है कि यहां किसी भी गेट पर फास्टैग सही तरीके से काम नहीं कर रहे हैं जिसके कारण एक वाहन के जाम हो जाने से उसके पीछे दरजनों गाडियों की लाईन लग जाती है। हालांकि चुंगी नाके के नियमनुसार 100 मीटर पर बनाए गए पट्टे के पीछे वाहन निकल जाने पर सभी वाहनों को छोड़ देने का नियम है लेकिन, चुंगी नाके पर इसका उल्लंघन किया जाता है। समय निकल जाने के बाद भी वाहनों को टोल भरने के लिए रोका जाता है। जबकि अधिक्तर फास्टैग सही से काम नहीं करते हैं।

    वाहनों की लंबी कतारें मुंबई-नाशिक मार्ग से

    अपने परिवारों के साथ दीवाली के लिए मुंबई में रहने वाले नौकरी पेशा लोग जो नाशिक या अन्य जिलों के लिए यात्रा करते हैं उन्हें ट्राफिक जाम के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ा। व्यवस्थापन का इस ओर ध्यान नहीं है और नियमों का उल्लंघन करते हुए टोल वसूला जा रहा है। दिवाली की छुट्टियों के अंत में, वाहनों की लंबी कतारें मुंबई-नाशिक मार्ग से गुजरते हुए देखी जा सकती हैं। इस कारण कुछ देर के लिए ट्रैफिक धीमी गति से चल रहा है। टोल प्लाजा पर अपनी बारी का इंतजार कर रहे मोटर चालकों की यात्रा के थकान के कारण बुरी हालत होने लगती है।

    किसी भी समय बारिश होने लगती है

    इगतपुरी तहसील में इन दिनों किसी भी समय बारिश होने लगती है। बरसात के मौसम के कारण कई लोग समय पर घर पहुंचने का इंतजार करते है। इससे हाईवे के दोनों ओर जाम लग जाता है और वाहनों की लंबी कतार लग जाती है। टोल प्रबंधन और चालक के बीच झड़पें भी देखी जा रही हैं। यही हाल पिंपलगांव बसवंत, चांदवड और धुलिया के चुंगीनाकों का भी है। नागरिक सवाल कर रहे हैं कि जब इतनी लंबी लाईन में देर तक ट्राफिक जाम में फंसना ही है तो फास्टैग  लगाने की क्या आवश्यकता है ? राष्ट्रीय महामार्ग नंबर 3 पर टोल नाकों के व्यवस्थापन द्वारा नियमों का खुला उल्लंघन किया जा रहा है और यहां के मैनेजर किसी भी सवाल का जवाब देने से भाग रहे हैं।