Movement of Muslim community at Dwarka Chowk, demand for various facilities with reservation

    नाशिक. मुस्लिम समाज को 20 प्रतिशत आरक्षण देने का राज्य और केंद्र सरकार निर्णय ले, मुस्लिम बेरोजगार युवक-युवतियों को सरकारी नौकरियां मिले, मोहसीन शेख को न्याय मिले, जमाव कर के शांतिभंग करने के कानून पर लोगों से अमल करवाया जाए, हर जिले में मुस्लिम बच्चों, युवक- युवतियों के लिए आवास बनाए जाये, बार्टी और सारथी के अंतर्गत मुस्लिम छात्रों के लिए यूपीएसी और एमपीएसी की पढाई के लिए संस्था स्थापित की जाए साथ ही मौलाना आजाद अल्पसंख्यक आर्थिक और रोजगार कर्ज की शुरुआत कर के अनुदान बढ़ाया जाए। 

    मुस्लिम समुदाय के लिए सरकार की ओर से हर तहसील में कब्रिस्तान के लिए भूमि प्रदान की जाए। इन सभी प्रमुख मांगों को लेकर आंदोलन कर के मुस्लिम उत्कर्ष समिती के जिला अध्यक्ष हनीफ बशीर और ग्रामीण जिला अध्यक्ष सादिक पठान, ग्रामीण महिला जिला अध्यक्ष फरीदा कज़ी, नासिक शहर अध्यक्ष आशा तड़वी और समूह की आदर्श समिना मेमन के मार्गदर्शन में कार्यकर्ताओं ने द्वारका सर्कल पर मुंबई-आगरा महामार्ग को जाम कर के वहां से गुजरने वाले वाहनों को रोक दिया गया। यहां आंदोलन कर्ताओं ने जोरदार घोषणाबाजी करके रास्ता रोको आंदोलन किया। महामार्ग को जाम कर देने के कारण द्वारका पर वाहनों की लंबी कतार लग गई थी और ट्राफिक जाम हो गया था। 

    इस आंदोलन में जिला अध्यक्ष हनीफ बशीर, ग्रामीण जिला अध्यक्ष सादिक पठान, अफ्ज़ल शेख, नूरजहान खान, समिना पठान, गुड्डी बाजी, रुबीना खान, समिना पठान उपस्तिथ थे। इस आंदोलन के लिए दाऊद भाई का विशेष सहकार्य प्राप्त हुआ। ज्ञात हो कि आंदोलन करने पर नासिक के सभी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को भद्रकाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई भी की गई। अपनी इस सभी मांगों को लेकर समुदाय का आक्रोश आंदोलन में दिखाई दिया।