NCP Youth Congress

    नाशिक. सिन्नर फाटा (SinnarFata) से सिन्नर तक गड्ढे (Potholes) भरे सड़कों(Roads)पर यात्रा करने से वाहन चालकों (VehicleDriver) की पीठ में दर्द होने लगा है। आए दिन दुर्घटनाऐं (Accidents) होती रहती है। कई लोगों की जान भी चली गई है। लेकिन सिन्नर टोलवेज कंपनी आंखें मूंदे के बैठी है। अंत में गुस्साए एनसीपी युवा कांग्रेस (NCP Youth Congress) के कार्यकर्ताओं ने सीधे कंपनी के कार्यालय मेंजाकर अधिकारियों को मान सम्मान दिया और पूजा कर उनकी आरती भी की।

    इस अनोखे विरोध की पूरे नाशिक जिले में चर्चा हो रही है। सिन्नार फाटा नाशिक-पुणे हाईवे पर आता है। यहां से सिन्नर जाने के लिए सड़क पर गढ्ढों की छलनी के कारण लोगों को डर लगने लगा है। आप की दोपहिया हो या चार पहिया वाहन हर किसी को इन गढ्ढों के अत्याचार से गुजरना पड़ता है। रोज होने वाले इस अत्याचार से छुटकारा पाने के लिए कई लोगों ने सड़क की मरम्मत की मांग की, लेकिन सिन्नर टोलवेज कंपनी गहरी नींद में है। इस लिए यह गुस्सा किसी ना किसी प्रकार निकलने वाला था। अंतत: बुधवार को राष्ट्रवादी युवा कांग्रेस के पदाधिकारी तोड़फोड़ और आंदोलन की बजाय सीधे कंपनी प्रबंधक के कार्यालय पहुंचे। वहां आंदोलनकारियों ने जो गांधीगिरी की उसे देखते हुए सभी के सर शर्म से झुक गए।

    प्रदर्शनकर्ताओं ने सिन्नर टोलवेज कंपनी के प्रबंधक दीपक वैद्य के हॉल में प्रवेश किया और उनके गले में हार पहनकर उनका सम्मान किया। पहले किसी को भी नहीं बताया गया कि उनका सम्मान क्यों किया जा रहा है। इसलिए एैसा होते देख सभी अधिकारी खुश हो गए।यह खुशी अधिक समय तक नहीं रह सकी। प्रदर्शनकारियों ने अपने साथ लाई पूजा की सामग्री निकाली और दिये जला कर उनकी पूजा करने लगे, साथ ही आरती करनी भी शुरु कर दी। जैसे ही कंपनी के अधिकारियों को पता चला की यह तो उन की बेइज्जती हो रही है तो सभी उखड गए।