Shivshahi Bus Service
File

    नाशिक: नाशिक (Nashik) स्थित एसटी महामंडल (ST Mahamandal) के नाशिक डिपो-1 की शिवशाही बस (Shivshahi ‍Bus) दोपहर 12.30 बजे ठक्कर बाजार बस स्थानक से शिवाजी नगर, पुणे (Pune) के लिए रवाना हुई। बस खराब होने से 2.15 घंटे के बाद सिन्नर पहुंची, तो 5.15 बजे आले फाटा पहुंची। शुरुआत से ही यात्री बस चालक से शिकायत कर रहे थे। चालक ने बस बदलकर देने की मांग ठक्कर बाजार बस स्थानक के नियंत्रक से की, लेकिन नियंत्रक ने चालक को बस खराब होने की बात लिखित रूप में देने के बाद ही दूसरी बस देने की बात कही। 

    अपनी नौकरी बचाने के लिए चालक ने खराब बस को सिन्नर तक पहुंचाई। यहां यात्रियों ने सिन्नर स्थित नियंत्रक से संपर्क कर शिकायत की। इसके बाद नियंत्रक ने बस चालक से संपर्क कर कहा कि आप बस चलाते रहें। मैं दूसरी बस भेजता हूं, परंतु दूसरी बस नहीं आई।

    शिकायत के बाद भी नहीं की गई मदद

    जैसे-तैसे बस 100 किलोमीटर यानी संगमनेर तक 3.30 बजे पहुंची। आले फाटा तक 5.30 बजे पहुंची। इसके बाद सभी यात्रियों का पारा चढ़ गया और वह बस को रोककर अन्य बस में बैठ कर निकल गए। खराब शिवशाही बस शिवाजी नगर बस स्थानक में रात 8.30 बजे पहुंची। यहां पर कुछ यात्रियों ने लिखित शिकायत की। यात्री श्रीकांत टिभे ने कहा कि सभी यात्री शिवशाही बस के लिए 475 रुपए किराया देते हैं, लेकिन इस शिवशाही बस का एसी बंद था। साथ ही बस के खराब होने के बाद भी निकाली गई। शिकायत करने के बाद भी दूसरी बस नहीं दी गई। अब एसटी महामंडल प्रशासन संबंधितों पर क्या कार्रवाई करता है? इस ओर सभी की निगाहें लगी हुई हैं।