स्वास्थ्य और स्वच्छता के मुद्दों पर विपक्ष आक्रामक

    मालेगांव : मालेगांव के महानगरपालिका (Municipal Corporation) हॉल में आयोजित आमसभा (General Assembly) में शहर की स्वास्थ्य (Health) और साफ-सफाई (Cleanliness) के मुद्दों (Issues) को विपक्ष (Opposition) ने परेशान किया और प्रशासन (Administration) को ताक पर रखकर महापौर के सामने खुली जगह पर बैठ गए। 11 मई को महापौर ताहेरा शेख (Mayor Tahera Sheikh), अपर कमिश्नर गणेश गिरी (Additional Commissioner Ganesh Giri), नगर सचिव श्याम बुरुकुल (Municipal Secretary Shyam Burukul) की उपस्थिति में ऑनलाइन आम सभा का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य और स्वच्छता के मुद्दे पर पहले चर्चा करने की मांग को लेकर विपक्षी समूहों ने महापौर कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। महापौर के जवाब के बाद विपक्षी पार्षद सीट पर लौट आए और कहा कि आमसभा के बाद इस पर चर्चा की जाएगी, इसके बाद शहर में भूमि अधिग्रहण (Land Acquisition) के मुद्दों पर चर्चा हुई। 

    राशीद शेख ने यह भी सुझाव दिया कि अधिकारियों की पदोन्नति के मुद्दे पर अगली आमसभा की बैठक में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की जाए। जनता दल के पार्षद मुस्ताकिम डिग्निटी ने पार्क विकसित करने के लिए विभिन्न संस्थानों को कम जमीन देने का फैसला किया है। सुनील गायकवाड़ ने पर्यटन मंत्रालय को रामलीला मैदान में पार्क विकसित करने का प्रस्ताव दिया। नगर में सफाई व्यवस्था नहीं होने से पार्षद नाराज हैं। 

    8 नए पंपों खरीदी निविदा प्रक्रिया को मंजूरी

    बीजेपी समूह के नेता सुनील गायकवाड़, नगरसेवक आशा अहिरे, मदन गायकवाड़ उपस्थित थे और अधिकारियों को किनारे कर दिया। कांग्रेस के असलम अंसारी ने एक बच्चे का इलाज नगर निगम के अस्पताल में इस आधार पर करने से इनकार करने का क्या कारण है कि उसका आधार कार्ड उत्तर प्रदेश का है? ऐसे मुद्दों को पेश करते हुए उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों से जवाब मांगा। डॉ. खालिद परवेज ने इसका विरोध किया। लंबी चर्चा के बाद अंत में महासभा ने खराब पंपों की जांच कर 8 नए पंपों की खरीद की निविदा प्रक्रिया को मंजूरी दी। राशीद शेख, सखाराम घोडके, शान-ए-हिंद, मुश्ताकिम डिग्निटी, जयप्रकाश बच्छाव, गजू देवरे, विट्ठल बर्वे, राजाराम जाधव और अन्य ने चर्चा में भाग लिया।