Shiv Sena MLA pleads in High Court, filed writ petition against Chhagan Bhujbal

    नाशिक. महाविकास आघाड़ी (Mahavikas Aghadi) के दोनों नेताओं (Leaders) में एक बार फिर भिड़ंत हो गई है। शिवसेना विधायक (Shiv Sena MLA) सुहास कांदे (Suhas Kande) ने एनसीपी नेता (NCP Leader) और राज्य के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल के खिलाफ हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर की है। विधायक सुहास कांदे ने सनसनीखेज आरोप लगाया है कि छगन भुजबल ने योजना समिति के फंड को बेच दिया है। 

    विधायक सुहास कांदे मामले की जांच की मांग को लेकर अदालत पहुंचे। याचिका में प्रतिवादी के तौर पर कलेक्टर और जिला योजना अधिकारी को भी नामित किया गया है। इतना ही नहीं, विधायक सुहास कांदे ने दावा किया है कि उनके पास 500 सबूत हैं कि छगन भुजबल ने फंड बेचा है।  कुछ दिनों पहले सुहास कांदे और छगन भुजबल के बीच आमने सामने तकरार हो गई थी।  उसके बाद इस बात के संकेत मिल रहे हैं कि उनका अगला मुद्दा कोर्ट में देखा जाएगा। 

    दौरा तूफानी सिद्ध हुआ

    राज्य के खाद्य एवं नागरी आपूर्ति मंत्री और नाशिक के पालक मंत्री छगन भुजबल 11 सितंबर को उत्तरी महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे पर थे। उस समय उनका यह दौरा तूफानी सिद्ध हुआ। क्योंकि छगन भुजबल और शिवसेना विधायक सुहास कांदे में तीखी नोकझोंक हो गई। विधायक सुहास कांदे और छगन भुजबल की तहसील कार्यालय में अधिकारियों के सामने तीखी नोकझोंक हुई।

    उच्च न्यायलय से गुहार लगाने की तैयारी

    इमरजेंसी फंड को लेकर पालक मंत्री छगन भुजबल और विधायक सुहास कांदे के बीच जुबानी जंग हो गई।  इसलिए समीक्षा बैठक में असमंजस की स्थिति रही। विधायक सुहास कांदे के समर्थकों ने पालक मंत्री के सामने जमकर नारेबाजी की।सुहास कांदे ने उत्तर महाराष्ट्र में बाढ़ कोष से तत्काल मदद मांगी। सुहास कांदे ने तत्काल मदद की मांग की जैसा उन्होंने सांगली-कोल्हापुर बाढ़ के दौरान दिया था। भुजबल ने कहा था कि इस समय भी वही मदद दी जाएगी।  लेकिन दोनों विधायकों में जोरदार आपसी कहासुनी हो गई थी। अब विधायक सुहास कांदे फंड की मांग को ले कर उच्च न्यायलय से गुहार लगाने की तैयारी कर रहे हैं।