देवलाली कॅन्टोन्मेंट कर्मचारियों की समस्याएं हल करें : एम. आय. खान

    देवलाली कैंप : यहां के कॅन्टोन्मेंट बोर्ड (Cantonment Board) के कर्मचारी (Employees) और सेवानिवृत्ति वेतन धारकों (Retirement Salary Holders) की विभिन्न प्रलंबित मांगों की ओर लंबे समय से ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इस बारे में तत्काल कार्यवाही (Immediate Action) करने की मांग जोर पकड़ती जा रही है। यहां के कर्मचारी यूनियन की ओर आयोजित कार्यक्रम में अध्यक्ष एम. आय. खान (Chairman M. I. Khan) ने जानकारी दी कि मुख्य कार्यकारी अधिकारी और वरिष्ठों के कार्यालय से इस बारे में संपर्क किए जाने के बाद भी उन पर ध्यान नहीं दिया जाता। यहां के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को 2016 से 7 वां वेतन (7th Pay) आयोग के अनुसार वेतन नहीं दिया गया है, इसके अलावा कर्मचारियों को 4 वर्ष से भविष्य निधि में जमा धन का विवरण भी नहीं दिया गया है। डी ए भत्ता 31 फीसदी है लेकिन इसका भुगतान (Pay) अभी तक नहीं किया गया है। 

    2016 से सातवें वेतन आयोग के तहत भुगतान नहीं किया गया 

    लगभग 390 सेवानिवृत्त लोगों को उनके सेवानिवृत्ति भुगतान का 75 प्रतिशत भुगतान किया गया है, लेकिन 25 प्रतिशत का भुगतान अभी तक नहीं किया गया है। पात्र कर्मचारियों को हर 10 वर्ष में पदोन्नति देने का प्रावधान है, ऐसे करीब 34 कर्मचारियों को अभी तक कोई विशेष वेतन वृद्धि नहीं दी गई है। चूंकि कोरोना काल में मरने वाले 3 कर्मचारियों का प्रस्ताव सरकार को नहीं भेजा गया था, उनके परिवार को सरकार द्वारा घोषित लाभ नहीं मिला। वर्ष 2013 से अनुकंपा के आधार पर केवल एक कर्मचारी के कर्मचारी को काम पर लिया गया है। शेष लोगों की फाईल अभी-भी पेडिंग पड़ी हुआ है।   

    वर्तमान में कॅन्टोन्मेंट प्रशासन को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है, फिर भी सैनिक सेवा करा के माध्यम से मिलने वाली 141 करोड़ रुपए प्रलंबित हैं। इसक लिए प्रशासन की ओर से प्रयास भी नहीं किए जाने की बात भी सामने आई। इसके अलावा युनियन मध्ये काम करने वाले कर्मचारियों को निशाने पर लिया जी रहा है। यूनियन में शामिल न होने पर कुछ अधिकारियों की ओर से खरी-खोटी सुनायी जाती है।