नवंबर से शुरु हो रहे हैं शादियों के मुहूर्त, 20 नवंबर से 9 जुलाई 2022 तक चलेंगे समारोह

    निफाड: अगले माह तुलसी विवाह के बाद शादी के (Wedding) इच्छुक जोड़ों के लिए मुहूर्त (Muhurta) की शुरुआत हो जाएगी। इस साल शादी समारोह 20 नवंबर (November) से शुरू होकर 9 जुलाई 2022 तक चलेगा। इस साल शादी करने वालों के लिए 63 मुहूर्त हैं और माता-पिता अपनी सुविधा के अनुसार शादी का मुहूर्त तय कर सकेंगे। पिछले साल कोरोना (Corona) के प्रकोप के चलते सीमित संख्या में लोगों की मौजूदगी में शादियां हुई थीं। 

    कोरोना के मामलों में गिरावट के कारण इस साल शादी सुचारू रूप से चलेगी। इस साल नवंबर में 4, दिसंबर में 11, जनवरी में 5, फरवरी में 6, मार्च में 4, अप्रैल में 6, मई में 11, जून में 10 और जुलाई में 6 शादियों के मुहूर्त हैं। 

    तैयारियों में जुटे लोग

    नवंबर और मार्च में शादी की कम से कम 4 तारीखें हैं। लम्हे कमोबेश अलग-अलग पंचांगों के अनुसार होते हैं। कई लोग अभी से तैयारियां कर रहे हैं। मंगल कार्यालय, कैटरर्स, दूल्हा-दुल्हन के चयन के बाद सजावट की बुकिंग कर रहे हैं। वर्तमान में कई परिवार अपने बच्चों के लिए रिश्ते ढूंढ रहे हैं, कुछ परिवारों में रिश्ते तय हो गए हैं तो कई घरों में मंगनियां कर ली गई हैं। रिश्तेदारों का सम्मान, लेन-देन, मंगल कार्यालयों की बुकिंग, पत्रिका, रसोइए, वाहनों की बुकिंग शुरु हो गई है। इस साल के पहले मुहूर्त की शादियों की खरीदारी शुरू है। बाजारों में दिवाली के साथ-साथ शादी की खरीदारी करने वालों की भीड़ भी लगी हुई है। दिवाली के बाद अगले मुहूर्त के लिए लोग खरीदी करने के लिए बाजार का रुख करेंगे।

    इस साल के मुहूर्त इस प्रकार हैं 

    • नवंबर 2021- 20, 21, 29, 30
    • दिसंबर 1, 7, 8, 9, 13, 19, 24, 26, 27, 28, 29
    • जनवरी 2022- 20, 22, 23, 27, 29
    • 5 फरवरी, 6, 7, 10, 17, 19
    • मार्च 26, 26, 27, 28
    • 15 अप्रैल, 17, 19, 21, 24, 25
    • मई 4, 10, 13, 14, 18, 20, 21, 22, 25, 26, 27
    • जून 1, 6, 8, 11, 13, 14, 15, 16, 18, 22
    • जुलाई 3, 5, 6, 7, 8, 9

    इस साल दिवाली के बाद नवंबर से शादी की शुरुआत होगी। कोरोना का प्रकोप खत्म हो चुका है, लेकिन आर्थिक तंगी के चलते धूमधाम से शादी करने की संभावना पहले की तरह कम है। 9 जुलाई तक शादी के 63 मुहूर्त हैं और माता-पिता के पास और भी विकल्प हैं।

    -पं. किशोर दीक्षित, पिंपलगांव बसवंत