NCP leader Nawab Malik said - Many secrets are hidden in Lalit, will meet on Sunday
File Photo

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) क्रूज़ ड्रग्स केस (Cruise Drugs Case) में एनसीपी (NCP) ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) पर एक और बड़ा आरोप लगाया है। एनसीपी नेता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने कहा है कि, एनसीबी ने रेड (Raid) के दौरान 8 नहीं बल्कि कुल 11 लोगों को हिरासत में लिया था जबकि 3 लोगों को बाद में छोड़ दिया गया था।

    न्यूज़ एजेंसी ANI के अनुसार, नवाब मलिक ने कहा है कि,  एनसीबी ने जिस दिन क्रूज़ पर छापेमारी की थी उस दिन एनसीबी के जोनल निदेशक समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) ने कहा था कि, हमने 8-10 लोगों को हिरासत में लिया है। एक जवाबदेह अफसर इस तरह फेक स्टेटमेंट कैसे दे सकता है। हिरासत में लिए गए लोग 8 या 10 नहीं बल्कि 11 थे।

    मलिक ने कहा, “हमारी जानकारी है कि, मुंबई पुलिस के पास सुबह तक जानकारी थी कि 11 लोगों को हिरासत में लिया गया फिर उसके बाद खबर आई कि, 8 लोगों को ही हिरासत में लिया गया है। उसमें 3 लोगों को छोड़ा गया है। उनके नाम रिषभ सचदेवा, प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला हैं। उन्होंने कहा, “रिषभ सचदेवा को हिरासत में लेने के 2 घंटे के बाद छोड़ा गया। तीनों लोगों को साथ में छोड़ा गया। जब सुनवाई चल रही थी तब मजिस्ट्रेट कोर्ट में प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला का नाम रिफलेक्ट हुआ है। इन 2 लोगों के बुलाने पर ही आर्यन खान वहां गए थे।”

    एएनआई के मुताबिक, नवाब मलिक ने कहा, “एनसीबी से सवाल है कि, आपने 1300 लोगों के जहाज पर रेड किया, 12 घंटे रेड चली, 11 लोगों को सलेक्ट करके हिरासत में लिया। एनसीबी को इसकी जानकारी देनी पड़ेगी कि, इन 3 लोगों को छोड़ने का आदेश आपको किसने दिया। भाजपा के दिल्ली से लेकर महाराष्ट्र के नेताओं ने इनको छोड़ने का आदेश दिया।” 

     बता दें कि, इससे पहले भी नवाब मलिक भी इस मामले को लेकर एनसीबी पर सवाल उठाए थे। शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के साथ सेल्फी लेने वाला व्यक्ति केसी गोसावी भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता है। इसी के साथ वह खुद को जासूस भी बताता है। उन्होंने कहा, वहीं आर्यन के दोस्त अरबाज मर्चेट को घसीटकर एनसीबी ऑफिस लेने वाला व्यक्ति भी भाजपा का कार्यकर्ता है, उसका नाम मनीष भानुशाली है।