Former Mumbai Police Commissioner Parambir Singh summoned again, Chandiwal Judicial Commission asked to appear before 6 October
File

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Former Mumbai Police Commissioner ParamBir Singh) की मुसीबतें और बढ़ सकती हैं। महाराष्ट्र भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti-Corruption Bureau) को बुधवार को राज्य सरकार से भ्रष्टाचार के आरोपों में सिंह के खिलाफ जांच करने की अनुमति दे दी गई है। मामला मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के एक इंस्पेक्टर, अनूप डांगे (Anup Dange) द्वारा महाराष्ट्र सरकार को लिखे गए एक पत्र के बाद सामने आया था। डांगे ने परमबीर सिंह पर करप्शन के आरोप लगाए हैं। 

    सरकार को लिखे गए पत्र में डांगे ने कहा था कि, पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर ने उनके निलंबन के दौरान उन्हें मुंबई पुलिस में बहाल करने के लिए पैसों की मांग की थी। मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बार मिले विस्फोटक से भरी कार मिलने के बाद हुए विवाद के बाद जब परमबीर सिंह का तबादला किया गया था, तब सिंह ने राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये वसूली के आरोप लगाए थे।

    एंटी करप्शन ब्यूरो, सिंह के खिलाफ दूसरी शिकायत की भी जांच कर रही है, जिसमें एक अन्य इंस्पेक्टर ने सरकार को पत्र लिखकर उन पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। हालांकि, एजेंसी को अभी तक इस मामले की जांच के लिए राज्य सरकार से मंजूरी नहीं मिली है।