Big relief to former Mumbai Police Commissioner Parambir Singh, Supreme Court says interim protection from arrest will continue
File Photo

    मुंबई: एक बड़ी खबर के अनुसार मुंबई की अदालत (Court) ने जबरन वसूली मामले (Extortion Case) में आईपीएस अधिकारी परम बीर सिंह (Param Bir Singh) को भगोड़ा घोषित किया है। यह जानकारी समाचार एजेंसी पीटीआई ने दी। 

    पूर्व कमिश्नर सिंह के खिलाफ बीते बुधवार को कोर्ट ने तीसरा गैर-जमानती वारंट जारी किया था। वहीं इससे पहले एक और मामले में मुंबई के मरीन ड्राइव थाने में परमबीर सिंह के खिलाफ रंगदारी के मामले में एक और गैर-जमानती वारंट जारी किया गया था। लेकिन परमबीर सिंह आगे नहीं आए।

    ज्ञात हो कि पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुंबई के मरीन ड्राइव पुलिस थाना और ठाणे के कोपरी पुलिस थाना में भारतीय दंड संहिता के तहत वसूली, धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा और फिरौती के लिए अपहरण के आरोपों को लेकर दर्ज की गई थी। श्याम सुंदर अग्रवाल ने आरोप लगाया था कि आरोपियों ने उनके खिलाफ मकोका और एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज मामले हटाने के लिए 15 करोड़ रुपये मांगे थे।  

    वहीं परमबीर सिंह 100 करोड़ के वसूली के मामले में भी आरोपी हैं। एंटीलिया और मनसुख हिरेन हत्या के मामले की जांच कर रही NIA सिंह को कई बार पूछताछ के लिए समन भेजा, लेकिन वह जांच एजेंसियों के सामने पेश नहीं हुए। जिसके चलते NIA और महाराष्ट्र राज्य की जांच एजेंसियों को शक हुआ कि गिरफ्तारी के डर से परमबीर सिंह देश छोड़कर भाग गए होंगे। NIA को अपनी जांच पूरी करनी है जिसके लिए परमबीर सिंह से पूछताछ करना चाहती है लेकिन अब परमबीर का पता नहीं चल पा रहा है।

    गौर हो कि सिंह के खिलाफ अब तक चार प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र के तत्कालीन गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रूपये वसूलने का टारगेट दिया था। इसके लिए देशमुख ने वाजे को मुंबई स्थित बार और रेस्तरां मालिकों की सूचि भी दी थी जिससे वसूली की जा सके। परमबीर ने यह भी आरोप लगाया था कि देशमुख वाजे के अलावा कई अन्य पुलिस अधिकारियों इसी तरह पैसा वसूलने का टारगेट दिया था। जिसके बाद अनिल देशमुख ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

    इस साल फरवरी में आरोप लगने के बाद मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त का होमगार्ड डिपार्टमेंट में ट्रांसफर कर दिया गया था। जिसके बाद वह कथित तौर पर मई तक कार्यालय उपस्थित रहे। इसके बाद सिंह ने स्वास्थ्य के आधार पर छुट्टी मांगी और कथित तौर पर अपने होमटाउन चंडीगढ़ की यात्रा की। जिसके बाद उनका कुछ पता नहीं चल पाया है। खबरों के मुताबिक सिंह के विदेश जाने की चर्चा है।