Police complaint against Maharashtra minister Nawab Malik, Sameer Wankhede's sister Yasmin demands action from NCW too
Photo:Twitter

    मुंबई: क्रूज़ ड्रग्स केस (Cruise Drugs Case) के मामले में जारी आरोप-प्रत्यारोप के बीच एनसीबी (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) की बहन यासमीन वानखेड़े (Yasmeen Wankhede) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) के खिलाफ पुलिस (Police) में शिकायत दी है। एक अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) (NCB) के मुंबई के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े की बहन यासमीन वानखेड़े ने महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग करते हुए एक पुलिस शिकायत दर्ज कराई है।

    हाई-प्रोफाइल क्रूज ड्रग्स मामले में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को भी गिरफ्तार किया गया था। केस में नया मोड़ तब आया जब एक गवाह ने इस केस में जबरन वसूली के आरोप लगाए। जिसके बाद समीर वानखेड़े को लेकर महाराष्ट्र में राजनीति गरमा गई है। वानखेड़े फिलहाल अब विभागीय जांच का सामना कर रहे हैं।

    पुलिस सूत्रों के अनुसार, ओशिवारा पुलिस को सौंपी गई अपनी दो पन्नों की शिकायत में यासमीन वानखेड़े ने दावा किया है कि, सोशल मीडिया पर उनके परिवार को निशाना बनाया जा रहा है और मलिक ने मालदीव की उनकी पारिवारिक यात्रा को ‘वसूली (जबरन वसूली) यात्रा’ भी कहा था। यासमीन ने अपनी शिकायत के साथ सोशल मीडिया के कुछ स्क्रीनशॉट भी पुलिस को दिए हैं और उनकी लिखित शिकायत पर मलिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। हालांकि इस केस में फिलहाल पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की है। 

    यासमीन वानखेड़े ने इसी के साथ एक शिकायत राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) को भी दी है और अनुरोध किया कि वह पुलिस से इस मामले में जल्द आगे की कार्रवाई करने के निर्देश दें। बता दें कि, मलिक ने बार-बार क्रूज ड्रग्स मामले को “फर्जी” करार दिया है और समीर वानखेड़े के खिलाफ कई आरोप लगाए हैं, जिसमें अवैध फोन टैपिंग और नौकरी हासिल करने के लिए जाली दस्तावेज शामिल हैं।

    इस बीच गुरुवार को समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर (Kranti Redkar) ने राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को एक पत्र लिखा है। इस पत्र के ज़रिए क्रांति ने सीएम से मिलने का समय मांगा है। पत्र में क्रांति ने कहा है कि, शिवसेना (Shiv Sena) के राज्य में एक महिला की गरिमा से खिलवाड़ किया जा रहा है। अगर आज बालासाहब ठाकरे होते तो निश्चित है, उन्हें यह मंजूर नहीं होता।