Dilip Walse Patil
File Photo: ANI

    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल (Dilip Walse Patil) ने सोमवार को कहा कि पोत पर नशा मामले में स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल को पुलिस सुरक्षा दी गई है, जिसने दावा किया कि एनसीबी के एक अधिकारी एवं अन्य लोगों ने अभिनेता शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान को मामले में छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपये की मांग की थी।

    एक अधिकारी ने बताया कि सैल ने सुबह में मुंबई पुलिस आयुक्त के कार्यालय का दौरा किया और संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मिलिंद भरांबे से मुलाकात की। बाद में उसने मुंबई के सहार थाने से संपर्क कर मांग की कि जब भी वह सहार गांव में अपनी पत्नी, बच्चों एवं सास से मिलने आए तो उसे सुरक्षा दी जाए।

    वलसे पाटिल ने मुंबई में संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रभाकर सैल को पुलिस सुरक्षा दी गई है। बहरहाल, चूंकि मैंने अभी तक नवाब मलिक (मंत्री और पार्टी के साथी) से मुलाकात नहीं की है, इसलिए यह नहीं कह सकता कि पहले उन्होंने क्या संकेत दिए थे।”

    मलिक ने दावा किया है कि स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के संभागीय निदेशक समीर वानखेड़े ने अपने जन्म प्रमाण पत्र सहित दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा किया था। (एजेंसी)