file
file

    पुणे. बालू (Sand) चोरी में इस्तेमाल की जानेवाली बोट, सेक्शन मशीन सहित अन्य सामग्री को पुलिस (Police) और राजस्व विभाग (Revenue Department) की टीम ने नष्ट कर दिया है। दौंड तालुका (Daund Taluka) के वाटलूज में कुल एक करोड़ 15 लाख रुपए का माल पुलिस ने नष्ट कर दिया गया है। इस मामले में तालुका के पांच बालू चोर के खिलाफ  केस दर्ज (Case Registered) किया गया है। दौंड पुलिस स्टेशन (Daund Police Station) के पुलिस निरीक्षक विनोद घुगे ने यह जानकारी दी है।

    तालुका के पूर्व क्षेत्र में वाटलूज के भीमा नदी किनारे फाइबर बोट की सहायता से दिन-रात बालू चोरी हो रही थी जिस पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस टीम ने सरकार के तकनीकी बोट की मदद से फाइबर बोट को कब्जे में लिया। राजस्व विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में जिलेटिन की मदद से पांच फाइबर बोट और पांच सेक्शन मशीन वाले बोट को नष्ट कर दिया गया। बोट में से 10 ब्रास बालू जब्त कर उसे फिर से नदी में छोड़ दिया गया।

    पुलिस और राजस्व विभाग की संयुक्त कार्रवाई

    बालू चोरी के मामले में तलाठी नंदकुमार खरात ने दौंड पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। इसके आधार पर नाना विट्ठल शेंडगे, मोहम्मद चांदभई, शरद महादेव शेंडगे, माऊली दादासाहेब झिटे और सलीम दगडू शेख (सभी  वाटलूज, दौंड, पुणे) के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुणे ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख के मार्गदर्शन में उपाधीक्षक राहुल धस और पुलिस निरीक्षक विनोद घुगे ने कार्रवाई की। इस कार्रवाई में फौजदार शहाजी गोसावी, सहायक फौजदार पोपट जाधव, हवलदार पांडुरंग थोरात, दीपक वायकर, सुभाष राऊत, पुलिस नाइक अमोल गवली, किरण राऊत, विशाल जावले, आमिर शेख, कांस्टेबल अमोल देवकाते, अभिजीत गिरमे और राजस्व विभाग के अधिकारी शामिल हुए।