Policeman hit couple with vehicle, case registered

    पिंपरी:  वकील से 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगने को लेकर तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।  मामला दर्ज किए गए आरोपियों में किसन तापकीर, सतीश तलेकर, लक्ष्मीकांत रासकर (तीनों निवासी वडमुखवाडी, चरहोली, पुणे) का समावेश है। उनके खिलाफ कैलाश विनायक तोंडे (29) ने दिघी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

    पुलिस के अनुसार, कैलाश तोंडे एक वकील हैं जो 2016 से चरहोली क्षेत्र में फ्लैट खरीदने और बेचने के व्यवसाय में हैं। वर्ष 2017 में वह लक्ष्मीकांत रसकर के माध्यम से किसन ज्ञानोबा तापकिर से परिचित हुए। उस समय तोंडे का कारोबार सुचारू रूप से चल रहा था। हालांकि, 2019 में टोंडे का किसन तापकीर के साथ एक मामूली कारण से बहस हुई थी। इसके बाद उन्होंने प्रकाश म्हस्के के प्लाट के व्यवहार में एक पेपर नोटिस जारी करने को कहा। तोंडे ने अपने कार्यालय सहायक के माध्यम से पेपर नोटिस जारी किया। प्रतिवादियों को फ्लैट के उद्घाटन के लिए नहीं बुलाया गया था। इससे नाराज तापकीर ने अपने गुस्से को ध्यान में रखते हुए पैसे के लिए तोंडे को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

    दिघी पुलिस कर रही मामले की जांच 

    तोंडे ने अपने दोस्तों के साथ साझेदारी में एक व्यवसाय शुरू किया क्योंकि उसने अपने काम से बहुत पैसा कमाना शुरू कर दिया था। नतीजतन, तापकीर को पैसा मिलना बंद हो गया। उसी से वह तोंडे को प्रताड़ित कर रहा था। 10 नवंबर को शाम 6 बजे तापकीर ने तोंडे को आलंदी देहुफाटा के एक होटल में बुलाया। वहां एक कमरे में आरोपी शराब पी रहे थे। वहां तापकिर ने उनका अपमान किया और 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी। इसके साथ उनसे मारपीट की और धमकी दी कि देखता हूं तुम अपना ऑफिस कैसे खोलते हैं। आरोपी ने तोंडे को एक होटल के कमरे में यह कहते हुए कैद रखा कि वह मेरे नाम पर पांच गुंठा जमीन किए बिना तुम्हें कारोबार नहीं करने देगा। तोंडे के भुगतान के लिए सहमत होने के बाद आरोपी ने उसे एक घंटे बाद अपने होटल के कमरे से रिहा कर दिया। दिघी पुलिस जांच कर रही है।