HEMANT RASNE

    पुणे. महानगरपालिका (Municipal Corporation) के तिजोरी (Vault) में जारी वित्तीय साल (Financial Year) में पहले ही 4 माह में 2500 करोड़ की राशि जमा हो चुकी है। जो अब तक की चार माह में सबसे अधिक है। इसको लेकर अब स्थायी समिति (Standing Committee) के अध्यक्ष (President) हेमंत रासने (Hemant Rasne) ने दावा किया है कि वित्तीय साल के अंत तक महानगरपालिका 9 हजार करोड़ तक की आय कमाएगी। यह उद्देश्य रख कर काम करने के निर्देश महानगरपालिका प्रशासन से दिए है। ऐसा भी रासने ने कहा।  

    टैक्स से मिले 971 करोड़ 

    कोरोना के चलते महानगरपालिका के आय पर मार पड़ी है। लेकिन महानगरपालिका आय कमाई को लेकर प्रयास कर रही है। प्रशासन का ये प्रयास रंग लाते हुए दिख रहा है, क्योंकि जारी वित्तीय साल में महानगरपालिका को पहले ही 4 माह में 2523 करोड़ की आय मिल चुकी है। इसमें सबसे ज्यादा आय टैक्स विभाग से 971 करोड़ मिली है।  उसके बाद एलबीटी से 904 करोड़, निर्माण कार्य विकास शुल्क से 491 करोड़ की आय मिल चुकी है। आय का जायजा रेवेन्यू कमिटी की बैठक में लिया गया। इसको लेकर स्थायी समिति अध्यक्ष हेमंत रासने ने दावा किया है कि वित्तीय साल के अंत तक महानगरपालिका 9 हजार करोड़ तक की आय कमाएगी। यह उद्देश्य रख कर काम करने के निर्देश महानगरपालिका प्रशासन से दिए है, रासने ने कहा।

    टैक्स विभाग को दिए जाएंगे कर्मी 

    रासने ने कहा कि टैक्स की और वसूली हो सकती है। साथ ही मोबाईल टॉवर की बकाया राशि को लेकर हम कोर्ट की लड़ाई लड़ रहे है। टैक्स की पूरी तरह से वसूली करने के लिए हमने विभाग को अतिरिक्त कर्मी मुहैया करने के निर्देश दिए है। रासने के अनुसार अमेनिटी स्पेस के साथ ही ओवरहेड केबल के माध्यम से भी महानगरपालिका को आय मिलेगी। इस साल महानगरपालिका बजट से ज्यादा आय कमाएगी। जो इतिहास होगा। उसके अनुसार ही हम प्रयास कर रहे है। 

    टैक्स                                  971 करोड़ 
    स्थानीय निकाय कर              904 करोड़ 
    निर्माण कार्य विकास शुल्क      491 करोड़
    जलापूर्ति                              30 करोड़
    अग्निशमन विभाग                     28 करोड़