पिंपरी-चिंचवड़ में 40 मोबाइल टॉयलेट के लिए 4.44 करोड़ की लागत

    पिंपरी: स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Mission) के तहत पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहर में मोबाइल टॉयलेट (Mobile Toilets) स्थापित किए गए हैं। इसी क्रम में वाहन मरम्मत कार्यशाला विभाग के माध्यम से महानगरपालिका के स्वास्थ्य विभाग के लिए 40 मोबाइल टॉयलेट की खरीद की जाएगी। इन मोबाइल टॉयलेट पर 4 करोड़ 44 लाख रुपए खर्च होंगे।

    पिंपरी-चिंचवड़ शहर की आबादी 25 लाख है। शहर की आबादी दिनों-दिन बढ़ती जा रही है। शहर में बड़ी संख्या में मजदूर काम पर आ रहे हैं और वे शहर की मलिन बस्तियों में किराए के कमरे में रहते हैं। शहर में करीब 71 मलिन बस्तियां हैं। इन झुग्गियों में हजारों परिवार रहते हैं। महानगरपालिका द्वारा यहां के निवासियों को मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। चूंकि मलिन बस्तियों और घनी आबादी वाले क्षेत्रों में सार्वजनिक शौचालयों की संख्या अपर्याप्त है, इसलिए महानगरपालिका द्वारा मोबाइल टॉयलेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

    12 ठेकेदारों ने निविदाएं प्रस्तुत की 

    स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा शहर में मोबाइल टॉयलेट स्थापित किए गए हैं।  इसी क्रम में वाहन मरम्मत कार्यशाला विभाग के माध्यम से महानगरपालिका के स्वास्थ्य विभाग के लिए 40 मोबाइल टॉयलेटों की खरीद की जाएगी। इसके लिए टेंडर मांगे गए थे। इसमें 4 करोड़ 99 लाख 47 हजार रुपए का खर्च तय किया गया था। तदनुसार, 12 ठेकेदारों ने निविदाएं प्रस्तुत की हैं। इनमें से दो ही क्वालीफाई कर पाए। इसमें निर्मिति इंजीनियरिंग कॉर्पोरेशन ने न्यूनतम 11 लाख 11 हजार रुपए प्रति व्यक्ति की दर से शुरुआत की। इसलिए उनसे 40 मोबाइल टॉयलेट लिए जाएंगे। इस हिसाब से 4 करोड़ 44 लाख 50 हजार रुपए खर्च किए जाएंगे।