गणेश विसर्जन पर पुणे में 7000 पुलिसकर्मियों का पहरा

    पुणे. गणेशोत्सव (Ganeshotsav) में पांचवें दिन के बाद से सड़कों पर उमड़ती भीड़ (Crowd) को ध्यान में लेकर रात 10 बजे से नाकाबंदी करने के अलावा मुख्य विसर्जन दिन यानी रविवार को अत्यावश्यक सेवाओं (Essential Services), होटल (Hotels), रेस्टोरेंट (Restaurants), हॉस्पिटल (Hospitals) को छोड़ सभी दुकानें (Shops)और अधिष्ठान बंद रखने का फैसला किया गया है। इसके अलावा विसर्जन के दिन सड़कों पर भीड़ न उमड़े और कोई अनुचित घटना न घटे इसके लिए सात हजार पुलिसकर्मियों का पहरा लगाया गया है। 

    इसकी जानकारी देते हुए पुणे के पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने बताया कि महामारी कोरोना की पृष्ठभूमि पर पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी गणेश विसर्जन मंडप में किए जाएंगे। विसर्जन घाट पर विसर्जन करने पर पूरी तरह से रोक है, कई जगहों पर मोबाइल टैंक की व्यवस्था होगी। इसके साथ ही किसी प्रकार के गाने बजाने, खेल खेलने, शोभायात्रा निकालने पर पूरी तरह से रोक होगी, ऐसा उन्होंने स्पष्ट किया है। शहर के प्रमुख गणेश मंडलों से विसर्जन पर पुलिस से सहयोग करने और कोरोना की पृष्ठभूमि पर नियमों का पालन करने की अपील भी उन्होंने की है। 

    कल सुबह 10 बजे से विसर्जन शुरू होगा

    कल सुबह 10 बजे से विसर्जन शुरू होगा, सभी सम्मानित गणेश मंडल की मूर्तियों का विसर्जन शाम 7 बजे तक किए जाएंगे। विसर्जन के दौरान पूरे शहर में सात हजार पुलिसकर्मियों का बंदोबस्त तैनात किया गया है। इसमें होमगार्ड के 450 जवान, एसआरपीएफ के 4 दल, दंगा विरोधी दल की 10 टीम, बम रोधी दस्ते की 8 टीम, शीघ्र कृति दल की 16 टीम, सभी पुलिस थाने के अंतर्गत 1100 कर्मचारी, क्राइम ब्रांच के 200 कर्मचारी, विशेष शाखा के 100 कर्मचारी, स्ट्रायविंग फोर्स 10 टीम, क्राइम ब्रांच और वित्तीय क्राइम ब्रांच की 20 टीम, विशेष पुलिस अधिकारी एसपीओ 1200 का समावेश है।

    पिंपरी-चिंचवड़ में भी चाक चौबंद प्रबंध

    उधर, पिंपरी-चिंचवड़ शहर में भी गणेश विसर्जन के लिए महानगरपालिका और पुलिस ने चाक चौबंद प्रबंध किया है। कोरोना के चलते गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी नदी घाटों पर विसर्जन करने और गाजे बाजे के साथ विसर्जन रैली निकालने पर रोक लगाई गई है। गणेश विसर्जन के दौरान कोई अनुचित घटना न हो, शहर की कानून व्यवस्था अबाधित रहे इसके लिए पुलिस का कड़ा बंदोबस्त तैनात किया गया है। पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्तालय के जनसंपर्क अधिकारी मनीष कल्याणकर के अनुसार, कल विसर्जन के लिए शहर में दो पुलिस उपायुक्त, 5 सहायक आयुक्त, 63, पुलिस निरीक्षक, 79 सहायक निरीक्षक और उपनिरीक्षक, 808 कमर्चारी, 126 होमगार्ड्स, एसआरपीएफ की एक और रिजर्व स्टैकिंग फोर्स की दो टीमें तैनात की गई है।