Vaccination
File Photo

    पुणे :  पुणे शहर (Pune City) में 3.5 लाख सहित जिले में लगभग 8.5 लाख पात्र लाभार्थियों को अभी तक कोविड-19 वैक्सीन (Vaccine) की पहली खुराक (First Dose) नहीं लगी है। सप्ताह भर चलने वाले विशेष टीकाकरण अभियान ‘मिशन कवच कुंडल’(Mission Kavach Kundal)  के तहत अधिक से अधिक लाभार्थियों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है।

    पुणे सर्कल के सहायक स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. संजय देशमुख ने बताया कि जिले में 73.97 लाख लाभार्थियों को पहली खुराक दी गई है। इनमें से 37.48 लाख का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। जिले में कुल पात्र लाभार्थियों की संख्या 82.4 लाख है। इस सर्कल में पुणे, सतारा और सोलापुर जिले शामिल हैं। देशमुख ने कहा कि हम इस राज्यव्यापी विशेष अभियान के तहत रोजाना कम से कम 92,000 से एक लाख लाभार्थियों को कवर करने की योजना बना रहे हैं।  इस अभियान की योजना केंद्र के 100 करोड़ टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा करने के लिए बनाई गई है।

    सभी 200 टीकाकरण केंद्र पूरी तरह कार्यरत

    पुणे शहर के टीकाकरण अधिकारी डॉ. सूर्यकांत देवकर ने कहा कि सभी 200 टीकाकरण केंद्र पूरी तरह से काम कर रहे हैं और वे मंगलवार को अधिक से अधिक लाभार्थियों तक पहुंचने की योजना बना रहे हैं। पुणे शहर में पात्र लाभार्थियों का लक्ष्य लगभग 33-34 लाख है, जिनमें से 30 लाख को कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक दी गई है। इनमें से 16 लाख को पूरी तरह से टीका लगाया गया है।  स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि पंजीकरण ऑनलाइन होने के कारण, पिंपरी-चिंचवड़ और राजगुरुनगर जैसे आसपास के क्षेत्रों के कई निवासियों ने भी पुणे शहर से टीका लगवाया था। सातारा में 18.53 लाख लाभार्थियों को टीके की पहली खुराक मिल चुकी है, जबकि पात्र 22 लाख लाभार्थियों में से 7.76 लाख का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। सोलापुर के 34 लाख पात्र लाभार्थियों में से 18.72 लाख को पहली खुराक मिल चुकी है, जबकि 5.86 लाख का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। देशमुख ने कहा कि वे घर-घर टीकाकरण करेंगे और उन बुजुर्गों और कमजोर समूहों तक पहुंचेंगे जो अभी तक टीकाकरण केंद्रों को रिपोर्ट नहीं कर पाए हैं।