The accused arrested in the Elgar Parishad-Maoist link case started hunger strike in jail
Representative Image

  • मामूली विवाद में स्क्रैप व्यवसायी समेत 2 लोगों पर की थी फायरिंग

पिंपरी. भाई (brother) के साथ हुए मामूली झगड़े की वजह से एक स्क्रैप व्यवसायी (Scrap dealer) और उसके दोस्त (friend) पर सरेराह फायरिंग (Firing) किये जाने की वारदात से पिंपरी-चिंचवड़ शहर में खलबली मच गई है. रविवार की रात पौने 12 बजे के करीब निगड़ी के सेक्टर  22 में बिल्डिंग नंबर 7 के सामने यह वारदात हुई. हमलावर 3 की संख्या में थे उन्होंने स्क्रैप व्यवसायी और उसके दोस्त पर दो राउंड फायरिंग की.सौभाग्य से इस वारदात में कोई चोटिल नहीं हुआ.दोनों बाल- बाल बच गए.पुलिस ने वारदात के 6 घँटे के भीतर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे डाल दिया है.

इस बारे में भरत ज्ञानोबा थोरात (28), जो एक स्क्रैप व्यवसायी है, ने निगडी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है. इसके अनुसार पुलिस ने प्रशांत रमेश कोली (32), सूरज सुभाष पवार (27), राहुल यल्लप्पा सोनकांबले (25) के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इनमें से सूरज पवार और राहुल सोनकांबले को तलवड़े से गिरफ्तार कर लिया गया है. 

गालीगलौज के बाद हुआ विवाद

निगड़ी थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक गणेश जवादवाड से मिली जानकारी के अनुसार, भरत के भाई और आरोपियों के साथ गालीगलौज करने को लेकर झगड़ा हुआ था.इसी का बदला लेने के लिए तीनों आरोपी बीती रात एक स्विफ्ट कार में सवार होकर सेक्टर  22 के बिल्डिंग नंबर 7 के पास आये.यहां भरत अपने दोस्त रफीक शेख के साथ बातचीत करते हुए खड़े थे. ‘आज तुम दोनों को गोली मार देंगे’ कहकर प्रशांत और सूरज ने दोनों की दिशा में 2 राउंड गोलियां चला दी.हालांकि इनमें से एक भी गोली किसी को नहीं लगी दोनों बाल- बाल बच गए.

अचानक हुई फायरिंग से इलाके में खौफ

अचानक हुई फायरिंग से इलाके में खौफ पैदा हो गया. मारे डर के लोगों ने खिड़की, दरवाजे बंद कर लिए.इस घटना की खबर मिलते ही पुलिस की पूरी फौज मौके पर दाखिल हुई. क्राइम ब्रांच के पुलिस उपायुक्त सुधीर हिरेमठ, उपायुक्त मंचक इप्पर, सहायक आयुक्त डॉ. सागर कवडे अपनी टीमों के साथ पहुंचे.वारदात की जानकारी हासिल कर आरोपियों की तलाश में निगड़ी पुलिस की तीन और क्राइम ब्रांच की चार कुल 7 टीमें रवाना की गई.

पुलिस ने पीछा कर पकड़ा

इस दौरान हवलदार सतीश ढाले को मुखबिर से दो आरोपियों के तलवड़े में छिपे रहने की जानकारी मिली. इसके अनुसार पुलिस ने जाल बिछाया, लेकिन भनक लगते ही सूरज और राहुल दोनों भाग निकले.मगर पुलिस ने पीछा करते हुए दोनों को दबोच लिया.पूछताछ में उन्होंने वारदात स्वीकार ली. अब पुलिस उनके साथी प्रशांत को तलाश रही है.