पुणे पर नहीं बल्कि गाने पर ध्यान दें अमृता फडणवीस, एनसीपी नेता रूपाली चाकणकर ने की आलोचना

    पुणे. राज्य सरकार (State Government) ने 26 जिलों (26 Districts) से प्रतिबंध हटा दिए है और दुकानों को रात 8 बजे तक खुले रहने की अनुमति दी है। हालांकि, बाहर किए गए 11 जिलों में पुणे शामिल है। इसलिए पुणे (Pune) के व्यापारी सरकार से नाराज हैं। इसी पृष्ठभूमि में अमृता फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रशासन और राज्य सरकार से सवाल पूछे है, साथ ही स्थानीय लोगों को विरोध करने की सलाह दी है। जिसके चलते एनसीपी और शिवसेना ने अमृता फडणवीस की आलोचना की है।

    पुणे के लोगों को दी थी सलाह 

    अमृता फडणवीस ने गुरुवार को पुणे में एक कार्यक्रम में शिरकत की। थ्रेड हैंडलूम फेस्टिवल का आयोजन पुणे में किया गया है और फेस्टिवल का उद्घाटन अमृता फडणवीस ने किया। कार्यक्रम में प्रेस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि,कोरोना की पृष्ठभूमि में नियमों का पालन करते हुए खरीदारी की जाए। राज्य में कई जगहों पर नियमों में ढील दी गई है। इसलिए वहां लेनदेन शुरू हो गया है। पुणे में सिर्फ 4% मरीज होने के बावजूद पुणे क्यों नहीं खुला?  मुंबई में प्रतिबंध हटा लिए गए, पुणे में क्यों नहीं?  उसके लिए, आपको एक विरोध करना  होगा, ”अमृता फडणवीस ने पुणे के लोगों से अपील की। पुणे से एनसीपी नेता रूपाली चाकणकर ने अमृता फडणवीस की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि, गीत पर ध्यान दें, पुणे नहीं, चाकणकर ने अमृता फडणवीस पर निशाना साधा।

    अमृता भाभी डबल ड्रम बजाती है

    रूपाली चाकणकर ने कहा, “एक बार मरीजों की संख्या कम हो जाने के बाद, हम लोगों से बाहर आने की अपील करना चाहते हैं और अगर मरीजों की संख्या फिर से बढ़ती है, तो हम सरकार पर हमला करेंगे। अमृता भाभी डबल ड्रम बजाती हैं। रूपाली चाकणकर ने कहा कि पुनेकरों को क्या करना चाहिए और क्या नहीं, यह बताने के बजाय उन्हें अपने गीतों की लय पर ध्यान देना चाहिए।