पुणे में हर तरफ भाजपा का ही अस्तित्व: देवेंद्र फडणवीस

    पुणे: पुणे (Pune) में जनोपयोगी काम हो रहे हैं। सत्ता में बैठी भाजपा (BJP) और उसका संगठन मिलकर काम कर रहे हैं। ऐसे में शहर में जहां जाओ, वहां पर भाजपा का ही अस्तित्व नजर आता है। उक्त सराहना विरोधी दल के नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने की।

    पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की जयंती (25 दिसंबर) को शहर भाजपा की ओर से अटल शक्ति महासंपर्क अभियान (Atal Shakti Maha Sampark Abhiyan) चलाया जाएगा। इस अभियान के प्रचारार्थ तैयार की गई पुस्तिका प्रकाशन, बोधचिन्ह और पार्टी के यू-ट्यूब चैनल का अनावरण फडणवीस के हाथों किया गया। मैन टू मैन एवं हार्ट टू हार्ट यानी मतदाताओं से सीधा संपर्क करना भाजपा के परंपरागत शक्ति स्थल हैं। केंद्र और महानगरपालिका के माध्यम से किए गए विकास कामों और योजना को मतदाताओं तक पहुंचाएं। उसके लिए अटल शक्ति महासंपर्क अभियान काफी अहम है।

    पुणे में भाजपा के काम को लेकर लोग सकारात्मक

    फडणवीस ने कहा कि सभी कार्यकर्ता इसे मन पर लें। यदि भाजपा कार्यकर्ताओं ने मन पर लिया तो भाजपा कुछ भी कर सकती है। पार्टी ने पुणे में बेहतर काम किया है। पार्टी केा लेकर लोगों में सकारात्मकता का भाव है। ऐसे में पिछली बार के महानगरपालिका चुनाव से कहीं अधिक सीटें जीत हम जीत सकते हैं। इसके लिए बूथ स्तर को सक्रिय करने के लिए सही नियोजन और उस पर अहम करना जरूरी है। शहराध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि भाजपा के 33 हजार से अधिक कार्यकर्ता 25 दिसंबर को अटल शक्ति महासंपर्क अभियान के तहत पुणे के डेढ़ लाख से  अधिक घरों में जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा द्वारा किए गए कार्यों को घर-घर पहुंचाएंगे। केंद्र सरकार के जनोपयोगी योजना और महानगरपालिका के विकास कामों को घर-घर पहुंचाएंगे। इसके तहत संगठन को सक्षमीकरण और जनसंपर्क को बढ़ाया जाएगा।

    Pune BJP

    छह लाख लोगों तक पहुंचने की योजना

    भाजपा शहराध्यक्ष जगदीश मुलिक ने कहा कि छह लाख लोगों तक पहुंचने की योजना बनाई गई है। इसके लिए मंडल बैठक, प्रभाग बैठक, शक्ति केंद्र बैठक, बूथ बैठक, बूथ समितियों के  बैठक किए जाएंगे। अभियान  प्रमुख राजेश पांडे ने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए आठ मंडलों के 60 प्रभागप्रमुख, 600 शक्ति केंद्र प्रमुख, 3000 बूथ प्रमुख और 33 हजार बूथ संपर्क कार्यकर्ताओं को इसमें सहभागी किया जाएगा। विभिन्न योजना और विकास कामों के साथ ही कॉल सेंटर, मतदाता पंजीयन, यू-ट्यूब चैनल की जानकारी दी जाएगी।

    शिवसेना के नए शिवसेना प्रमुख हैं क्या मिलिंद नार्वेकर?

     6 दिसंबर 1992 को कारसेवकों द्वारा अयोध्या में बाबरी मस्जिद को ढहा दिया गया था। इस घटना की याद में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निजी सचिव मिलिंद नार्वेकर ने ट्विट कर राम मंदिर निर्माण में शिवसैनिकों के दिए बलिदान को नमन किया। इस पर पत्रकारों द्वारा फडणवीस से पूछे गए सवाल पर केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने तंज कसते हुए कहा कि मिलिंद नार्वेकर  नए शिवसेना प्रमुख हैं क्या? इस पर फडणवीस के चेहरे पर हल्की मुस्कान बिखर गई।