Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation

    पिंपरी : सत्तादल भाजपा के पार्षद (BJP Councilor) तुषार कामठे (Tushar Kamthe) ने राज्य के उपमुख्यमंत्री (Deputy Chief Minister) अजित पवार (Ajit Pawar) से मांग की है कि पिंपरी-चिंचवड़ नगर निगम (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के अ और ब क्षेत्रीय कार्यालयों के तहत सफाई कार्य के लिए फर्जी दस्तावेज जमा कर पिंपरी-चिंचवड़ नगर निगम को ठगने वाली कंपनियों और उनके सहयोगियों की जांच होनी चाहिए। इस संबंध में पार्षद कामठे ने उपमुख्यमंत्री पवार को बयान दिया है। 

    इसमें उन्होंने कहा कि पिंपरी-चिंचवड़ नगर निगम प्रशासन ने क्षेत्रीय कार्यालय के तहत सड़क नालों और गटरों की सफाई के लिए टेंडर प्रक्रिया लागू की है। इसमें सिक्युर आईटी फैसिलिटी मैनेजमेंट प्रा. लि. कंपनी ने टेंडर भरा है। हालांकि, संबंधित कंपनी ने फर्जी दस्तावेज, लेटरहेड और जाली हस्ताक्षर संलग्न करके पिंपरी-चिंचवड़ नगर निगम प्रशासन को धोखा दिया है। यह 55 करोड़ रुपये का टेंडर गलत तरीके से करवाकर आम पिंपरी-चिंचवडकरों के टैक्स के पैसे लूटने का एक तरीका है।

    नगर कमिश्नर राजेश पाटिल के माध्यम से की जाए

    संबंधित सिक्युर आईटी फैसिलिटी मैनेजमेंट प्रा. लि. कंपनी ने इंदापुर नगर निगम प्रशासन में काम करने का गलत कार्यादेश और कार्य अनुभव प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया था। इंदापुर नगर निगम प्रशासन ने इस बारे में लिखित स्पष्टीकरण भी दिया है। मांग है कि पिंपरी-चिंचवड़ नगर प्रशासन को ठगने के मामले में संबंधित कंपनी के निदेशकों और जिम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ अन्य सबूतों का सत्यापन कर संबंधित कंपनी और अधिकारियों की जांच नगर कमिश्नर राजेश पाटिल के माध्यम से की जाए।

    संबंधित अधिकारियों के खिलाफ पूरी जांच कर कानूनी कार्रवाई की जाए

    इसके साथ ही पार्षद कामठे ने मांग की है कि इस मामले की जांच वित्तीय अपराध जांच विभाग को सौंपी जाए और संबंधित लोगों को जांच के लिए तुरंत हिरासत में लिया जाए। यह घोटाला नगर निगम प्रशासन के अधिकारियों की मदद से हुआ है कंपनी के साथ निगम के संबंधित अधिकारियों के खिलाफ पूरी जांच कर कानूनी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि जनहित में इस मामले को नगर निगम की सर्वसाधारण सभा के संज्ञान में लाया गया। हालांकि अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। इसलिए पिंपरी-चिंचवडकरों का ध्यान अब इस बात पर है कि अजित पवार क्या फैसला लेंगे?