Country first cyber university to be established in Maharashtra: Uday Samant

    पुणे :  ‘मंत्रियों के साथ संवाद’(Dialogue with Ministers) कार्यक्रम (Program) में भाग लेने के लिए उच्च और  तकनीकी शिक्षा मंत्री (Higher and Technical Education Minister) उदय सामंत (Uday Samant) सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स (Suryadatta Group of Institutes) कैंपस में पहुंचे थे। जहां वह ‘ऑनलाइन और एकीकृत शिक्षा के संदर्भ में साइबर सुरक्षा’ विषय पर छात्र, प्रोफेसर और आमंत्रित अभिभावकों से वे बात कर रहे थे।

    उच्च और  तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने कहा कि टेक्नोलॉजी  का बढ़ता उपयोग और साइबर सुरक्षा को लेकर तकनीकी और साइबर क्षेत्र में उच्च शिक्षा उपलब्ध होना समय की जरुरत है। इसलिए राज्य सरकार महाराष्ट्र में देश का पहला साइबर विश्वविद्यालय स्थापित करने के लिए प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में राज्य में पहला संतपीठ बनाने का उन्हें अवसर मिल रहा है, यह उनके लिए काफी संतोषजनक बात है।

    कोंकण विजन 2025 का हुआ विमोचन

    इस कार्यक्रम के दौरान डॉ. एपी जे अब्दुल कलाम हॉल का उद्घाटन के साथ-साथ ‘कोंकण विजन 2025’ डॉक्यूमेंट का विमोचन भी सामंत के हाथों हुआ। 

    कोरोना के नियमों का पालन जरुरी

    उदय सामंत ने कहा कि कोरोना के कारण ऑनलाइन शिक्षा लोकप्रिय हुई है, लेकिन ऑफलाइन शिक्षा के प्रति छात्रों का रुझान आज भी अधिक है। पिछले 19 महीनों में कई लोगों की मानसिकता बदली है। हम एक व्यापक, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा चाहते है। इसलिए ऑफलाइन शिक्षा पर जोर दिया जाना चाहिए। भविष्य में कॉलेजों और स्कूलों में छात्रों की संख्या भी बढ़ेगी इसलिए जरूरी है कि टीकाकरण और कोरोना के नियमों का पालन किया जाए। प्रा. डॉ. संजय चोरडिया ने इस समय सूर्यदत्ता इंस्टीट्यूट द्वारा चलाए जाने वाले विभिन्न उपक्रमों और  अपनी भविष्यकालीन शैक्षणिक परियोजनाओं की जानकारी दी।

    विभिन्न पुरस्करों का हुआ वितरण

    कार्यक्रम में विभिन्न पुरस्कारों का वितरण हुआ। इसमें कार्मिक प्रबंधन राष्ट्रीय संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष विश्वेश कुलकर्णी (इंडस्ट्रियल-एम्प्लॉयी स्पॉन्सरशिप), वेटरन्स इंडिया के अध्यक्ष भोलानाथ सिंह (वीर विधवाओं के बच्चों की मदद), लायंस क्लब की सीमा दाबके (कोविड द्वारा खोए परिवारों में बच्चों की मदद), सरपंच अमित तोडकर (ग्रामीण विकास योजना), लायन्स क्लब के पूर्व गवर्नर चंद्रहास शेट्टी (बाढ़ प्रभावित बच्चों की मदद) को पुरस्कार दिए गए। कार्यक्रम की सफलता के लिए प्रा. सुनील धाडीवाल, प्रा. अक्षित कुशल, रोशनी जैन, मिलिना राजे, अमोल चिदंबर, नितिन कामठेकर, रोहन जमदादे ने काफी मेहनत की। सूर्यदत्ता के बावधन कैम्पस में आयोजित कार्यक्रम मे इंस्टीट्यूट्स के संस्थापक अध्यक्ष प्रा. डॉ. संजय चोरडिया, उपाध्यक्ष सुषमा चोरडिया, मुख्य विकास अधिकारी सिद्धांत चोरडिया, स्नेहल नवलखा, डॉ. किमाया गांधी, राजकुमार सुराणा, किरण साली, नीलेश गिरमे आदि उपस्थित थे।