Pimpri Chinchwad Municipal Corporation

    पिंपरी: आगामी पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका चुनाव (Pimpri-Chinchwad Municipal Elections) के लिए महानगरपालिका प्रशासन द्वारा प्रभाग संरचना का रफ ड्राफ्ट प्लान (Rough Draft Plan) तैयार किया है। यह मसौदा सोमवार को राज्य चुनाव आयोग को सौंप दिया गया है। नया वार्ड (New Ward) कैसा रहेगा, इसमें कौन सा हिस्सा जोड़ा जाएगा, कौन सा हिस्सा छूटेगा? इसको लेकर नगरसेवकों (Corporators) समेत आकांक्षी उम्मीदवारों और नागरिकों में काफी उत्सुकता है। गौरतलब है कि तीन सदस्यीय पैनल से होनेवाले इस चुनाव में महानगरपालिका के 43 वार्ड और 139 पार्षद होंगे।

    महानगरपालिका के चुनाव फरवरी 2022 में होने की उम्मीद है।  चुनाव तीन सदस्यीय प्रणाली से होगा। राज्य चुनाव आयोग ने 25 अगस्त को एक सदस्यीय प्रणाली का मसौदा तैयार करने का आदेश दिया था, इसके बाद 30 सितंबर को तीन सदस्यीय प्रणाली का मसौदा तैयार करने का आदेश दिया था। राज्य सरकार ने 27 अक्टूबर को राज्य में तेजी से बढ़ती आबादी के साथ-साथ शहरी विकास योजनाओं में तेजी लाने की आवश्यकता को देखते हुए महानगरपालिका और नगर परिषदों में निर्वाचित सदस्यों की संख्या बढ़ाने का फैसला किया। इसी के तहत 3 नवंबर को महानगरपालिका को तीन सदस्यीय तरीके से नया वार्ड बनाने का आदेश दिया गया। वार्ड संरचना का प्रारूप 30 नवंबर तक जमा करने का आदेश दिया गया था। मगर नगर निगम इस अवधि में योजना तैयार नहीं कर सका, उसका काम अब तक शुरू था।

    वार्ड डिजाइन करने में काफी दिक्कत हुई

    वार्ड बनाते समय भौगोलिक सीमाएं मेल नहीं खाती थीं। सीमाओं से मेल खाने के लिए ब्लॉकों को तोड़ना पड़ा, लेकिन आयोग को ब्लॉक तोड़ने से मना किया गया था। ऐसे में वार्ड डिजाइन करने में काफी दिक्कत हुई। नतीजतन, महानगरपालिका ने समय पर काम नहीं होने का हवाला देते हुए योजना प्रस्तुत करने के लिए 15 दिनों का विस्तार मांगा था। इस पर चुनाव आयोग ने 5 दिसंबर 2021 तक वार्ड संरचना का रफ प्लान तैयार करने का काम पूरा कर 6 दिसंबर को आयोग को सौंपने का आदेश दिया था। इसी के तहत महानगरपालिका प्रशासन ने योजना का काम पूरा किया। प्रगणक समूह, वार्डों को दर्शाने वाली केएमएल फाइल और साथ ही सभी वार्डों और प्रगणक समूह और उसमें शामिल जनसंख्या के विवरण वाली पेन ड्राइव को सील कर आयोग को प्रस्तुत किया गया।

    आपत्तियों पर सुनवाई की जाएगी

    अब चुनाव आयोग द्वारा इस रफ ड्राफ्ट की जांच की जाएगी। यदि इसमें कोई परिवर्तन होता है तो उन परिवर्तनों की सूचना महानगरपालिका को दी जाएगी। इसमें बदलाव करने के बाद महानगरपालिका दोबारा योजना आयोग को सौंपेगा। आयोग की मंजूरी मिलने के बाद महानगरपालिका प्रशासन नागरिकों के लिए ड्राफ्ट प्रकाशित करेगा। इस पर लोगों से आपत्तियां, सुझाव आमंत्रित किए जाएंगे, इसमें भी कुछ दिन लगेंगे। इसके बाद आपत्तियों पर सुनवाई की जाएगी। स्वीकृत आपत्तियों के अनुसार योजना में संशोधन कर अंतिम योजना प्रकाशित की जायेगी। बहरहाल, वार्ड संरचना में नगरसेवकों के साथ-साथ इच्छुक उम्मीदवारों और नागरिकों में भी उत्सुकता है। नया वार्ड कैसा रहेगा, उसमें कौन सा हिस्सा जोड़ा जाएगा, कौन सा हिस्सा छूटेगा, यह ड्राफ्ट के बाद सामने आएगा।