Due to metro works, there is a danger of accident due to potholes on the road, Prithviraj Sutar warn

    पुणे. पुणे शहर (Pune City) में कोथरुड में वनाज़ से नगर रोड के रामवाड़ी (Ramwadi) और पिंपरी (Pimpri) से स्वारगेट (Swargate) तक महामेट्रो (Mahametro) के माध्यम से काम चल रहा है। हालांकि, जिन सड़कों पर ये कार्य किए जा रहे हैं, वहां इन कार्यों ने कई समस्याएं पैदा की है और नागरिकों को बहुत असुविधा हो रही है। इसलिए पुणे महानगरपालिका के शिवसेना गुटनेता नगरसेवक पृथ्वीराज सुतार ने मांग की है कि इन समस्याओं का समाधान कर नागरिकों की असुविधा को दूर किया जाए। 8 दिनों में काम नहीं पूरा होगा तो आंदोलन किया जाएगा। ऐसी चेतावनी सुतार द्वारा दी गई है।  

    8 दिन की दी समय सीमा 

    इस संबंध में सुतार ने महामेट्रो के निदेशक अतुल गाडगिल को बयान दिया है। इस मेट्रो का काम पिछले चार-पांच साल से चल रहा है, मेट्रो का काम तो होना ही है लेकिन इस काम को करते समय सड़क पर वाहन चलाने वालों को सावधान रहना होगा कि कहीं नागरिकों को कोई असुविधा न हो, लेकिन इस पर पूरी तरह से ध्यान नहीं दिया गया है। जिन सड़कों पर मेट्रो का निर्माण चल रहा है, वहां कई जगहों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। स्ट्रीट लाइट के पोल पूरी तरह से हटा दिए जाने के कारण स्ट्रीट लाइट को पूरी तरह से हटा दिया गया है। नतीजा यह है कि सड़कों पर जमा पानी और गड्ढों का अंदाजा नहीं लगने से दुर्घटनाएं हो रही है।

    पृथ्वीराज सुतार ने सवाल उठाया है कि क्या इस वजह से सड़क हादसे में जान गंवाने के लिए महामेट्रो जिम्मेदार होंगे। मेट्रो में कार्य करते समय निम्न सड़कों का भी रखरखाव और मरम्मत की आवश्यकता होती है, लेकिन क्योंकि ऐसा नहीं है, नागरिकों को इस सड़क पर गाड़ी चलाते समय काफी मेहनत करनी पड़ती है। निर्माणाधीन सड़कों पर यदि कोई व्यक्ति दुर्घटना करता है तो उसकी जिम्मेदारी महामेट्रो एवं नगर निगम प्रशासन की होगी। पृथ्वीराज सुतार ने चेतावनी दी है कि 8 दिन में यह काम पूरा करें वरना आंदोलन किया जाएगा।