Divisional Commissioner Saurabh Rao

    पुणे. प्रदूषण नियंत्रण, ग्रीन फील्ड में बढ़ोतरी, ई-वाहन के उपयोग के जरिए 2030 तक कार्बन न्यूट्रल करने की योजना बनाई गई है। पुणे शहर को पर्यावरणपूरक के रूप में पहचाना जाए इसके लिए  2030 तक अक्षय ऊर्जा (Renewable Energy) 90 फीसदी एकत्रित किया जाएगा। सिंहगढ़ (Sinhagad) के लिए जल्द ही ई बस सेवा (E-Bus Service) शुरू की जाएगी। इसकी जानकारी पुणे (Pune) के डिविजनल कमिश्नर सौरभ राव (Divisional Commissioner Saurabh Rao) ने दी है।

    कार्बन न्यूट्रल और माझी वसुंधरा अभियान 2.0 को लेकर विधान परिषद में उपसभापति डॉ. नीलम गोर्हे,  पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे, पर्यावरण राज्यमंत्री संजय बनसोडे के साथ हुई समीक्षा बैठक में राव ने पुणे विभाग के लिए बनाई गई उपाय का प्रेजेंटेशन  दिया। पर्यावरण विभाग की प्रधान सचिव मनीषा म्हैसकर, पुणे महानगरपालिका कमिश्नर विक्रम कुमार, पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका के कमिश्नर राजेश पाटिल, पुणे महानगर विकास प्राधिकरण के सीईओ सुहास दिवसे, अभियान के निदेशक सुधाकर बोबडे, उपायुक्त प्रशांत खांडकेकर आदि उपस्थित थे।

     ‘माझी वसुंधरा अभियान’ में 430 स्थानीय स्वराज संस्थान ने भाग लिया

    अभियान के पहले वर्ष में 29 लाख 94 हज़ार वृक्ष लगाने, 1650 ग्रीन फील्ड तैयार करने, 237 क्षेत्रों का पुनर्जीवन, 10 हज़ार 663 टन कंपोस्ट खाद का निर्माण, 6 हज़ार पुराने और 3500 नए बिल्डिंग में रेन वाटर हार्वेस्टिंग बनाया गया है। 11 हज़ार लाख लीटर पानी संवर्धन की क्षमता तैयार हो गई है। 775 जल संस्थान की सफाई की गई है। 12 लाख एलईडी बल्ब, 736 बायोगैस और 701 सोलर पंप बिठाने जाने की जानकारी इस बैठक में दी गई। माझी वसुंधरा अभियान में विभाग के 430 स्थानीय स्वराज संस्थान ने भाग लिया। 

    नागरिकों की भागेदारी बढ़ाने की जरुरत

    मुला-मुठा के संगम पर जलकुंभी मुक्ति अभियान शुरू किया गया है। जिले में पर्यावरणपूरक पर्यटन को बढ़ावा दिया जाएगा।  पर्यावरण की रक्षा को लेकर चर्चा करके नागरिकों की भागेदारी बढ़ाने की जरुरत है। पुणे में जैव विविधता की रक्षा के लिए वस्तुनिष्ठ रिपोर्ट तैयार करने के लिए डॉ. गोर्हे ने कहा। गंदे पानी का प्रबंधन, कचरे का सही तरह से निपटारा, अपारंपरिक ऊर्जा का इस्तेमाल आदि से राज्य में पर्यावरण की रक्षा के आंदोलन को अधिक मजबूत किया जाएगा। पर्यावरण के बदलाव के कार्य में शहरवासी आगे आए और शहर के कार्बन को न्यूट्रल करने के लिए लंबी अवधि की योजना पर जोर दें, यह अपील भी उन्होंने की।