Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation Commissioner Rajesh Patil

    पिंपरी : स्मार्ट सिटी की परियोजनाओं (Smart City Projects) में भ्रष्टाचार (Corruption) के लगातार लग रहे आरोपों और हालिया सर्वसाधारण सभा में इसी मुद्दे पर मचे घमासान के बाद भी पिंपरी चिंचवड़ महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल (Pimpri Chinchwad Municipal Commissioner Rajesh Patil) को इसमें कुछ गलत नजर नहीं आया है। हालांकि संवाददाताओं के साथ की गई बातचीत में उन्होंने खुदाई और स्मार्ट सिटी योजना के कामों सम्बंधित मिली शिकायतों (Complaints) की जांच कराने की बात उन्होंने कही है। बहरहाल जहां आम सभा में सर्वदलीय नगरसेवकों ने महानगरपालिका कमिश्नर को ‘टारगेट’ किया, वहीं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के विधायक अण्णा बनसोडे (MLA Anna Bansode) ने कमिश्नर का समर्थन किया है। 

    यहां संवाददाताओं के साथ की गई बातचीत में महानगरपालिका कमिश्नर ने कहा कि स्मार्ट सिटी कार्यों के आरोपों की मैंने जांच-पड़ताल की है। मुझे इसमें कुछ गलत नजर नहीं आया।खुदाई काम की जांच की जाएगी। स्मार्ट सिटी में एल एंड टी के 250 करोड़ रुपए के काम को लेकर तकनीकी मंजूरी की जरूरत है कि नहीं? इस बारे में राज्य सरकार की राय ली जाएगी। स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल ने कहा कि एल एंड टी को 250 करोड़ रुपए के काम के लिए तकनीकी मंजूरी नहीं होने की बात सामने आने पर नगरसेवकों द्वारा प्रशासन पर आरोप लगाए जा रहे हैं। इस पर राज्य सरकार से राय मांगी जाएगी।

     किसी को बख्शा नहीं जाएगा

    आईटी के काम होने से उसके लिए तकनीकी मंजूरी की जरूरत नहीं होने की बात कंपनी ने प्रशासन से कही है, जबकि आईटी का काम बहुत कम था। 148 करोड़ का काम सिविल संबंधी थे। इस कारण इसके लिए तकनीकी मंजूरी की आवश्‍यकता है, ऐसा नगरसेवकों का कहना है। इस संबंध में कमिश्नर ने कहा कि तकनीकी मंजूरी नहीं लिए जाने से क्या नुकसान हुआ है? इसकी जांच की जाएगी। स्मार्ट सिटी का काम करने के लिए उप ठेकेदार की नियुक्ति की गई, लेकिन उसकी जानकारी नहीं दी गई। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि गलती सामने आने पर कार्रवाई की जाएगी, किसी को बख्शा नहीं जाएगा। दोषी पाए जाने पर फौजदारी कार्रवाई की जाएगी।

     आंद्रा-भामा आसखेड़ डैम से प्रतिदिन 100 एलएलडी पानी लिया जाएगा

    स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल ने कहा कि मेरे कार्यकाल में मेरे सामने आए कामों में यदि कोई गलती नजर आई तो उसके खिलाफ निश्‍चित कार्रवाई की जाएगी। स्मार्ट सिटी के काम को लेकर जो शिकायतें आई हैं, उनकी उचित जांच करके दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। महानगरपालिका कमिश्नर ने कहा कि पिंपरी- चिंचवड शहर के नागरिकों के लिए दिसंबर से आंद्रा-भामा आसखेड़ डैम से प्रतिदिन 100 एलएलडी पानी लिया जाएगा। इसके बाद सप्ताह भर शहर के हर हिस्से में 24 घंटे जलापूर्ति की अमलबाजी की जाएगी।