FB LIVE-LOCKDOWN VIBES 2: Meet Dr. Mangesh Karad, Dronacharya educationist of modern teaching

नागपुर. जैसा कि आप जानते हैं कोरोना संक्रमण के इस कठिन दौर में नवभारत अपने पाठकों के लिए Lockdown Vibes के पटल पर एक से बढ़कर एक राजनीतिज्ञ और बुद्धिजीवी मेहमानों को आपसे रूबरू कराने के लिए लेकर आया है।  इन सबके पीछे नवभारत की हमेशा से ही यही मंशा रही है की वह अपने पाठकों को एक अच्छा पटल दे सके जहाँ वे इस कठिन दौर में अपने शाररिक और मानसिक संतुलन को बनाए रखने की प्रेरणा पा सकें।  उनका मनोरंजन भी हो और इसके साथ ही वे कुछ जरुरी बातों को भी सुन सकें जिनसे उनका और भारत का का भविष्य टिका होगा। 

अगर हम बात कर रहे हैं डॉ.  कराड की तो जेहन में एक नाम आता है MIT ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट का। जी हाँ दोस्तों डॉ.मंगेश कराड, MAEER’S (महाराष्ट्र अकादमी ऑफ़ इंजीनियरिंग एजुकेशन एंड रिसर्च ) के MIT समूह के कार्यकारी निदेशक और सचिव हैं, जिसके आज अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के कई विदेशी संस्थानों के साथ टाई-अप है। जैसा कि श्री कराड बताते हैं उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग पूरा करने के बाद उन्होंने अपने करियर की शुरुआत अपने चाचा प्रोफेसर डॉ. विश्वनाथ डी कराड  कि ही तरह उनके  नक्शेकदम पर चलते हुए  MIT में लेक्चरर के रूप में की। डॉ. विश्वनाथ ने ही MIT कि नींव रखी थी। 

एक दशक से ही कम समय में डॉ. कराड ने MIT को एक नई पहचान दे दी है।  उन्होंने इस इंस्टिट्यूट के तहत एक नए तरह के  तकनीकी शिक्षा केंद्र की स्थापना की है।  उन्होंने  मरीन इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए मोल मित्सुई सिमुलेशन केंद्र सहित और भी कई  स्टार्ट-अप्स की एक कड़ी स्थापित की है। यही नहीं वे महाराष्ट्र विश्वविद्यालय अकादमी ऑफ नेवल एजुकेशन एंड ट्रेनिंग (MANET) जैसे कई अनूठे कॉलेजों की स्थापना के लिए भी जिम्मेदार रहे हैं जो समुद्री उद्योग के लिए इंजीनियरिंग शिक्षा प्रदान करते हैं। उन्होंने एक बिजनेस इनक्यूबेशन सेंटर भी  विकसित किया है और कैंपस में पाठ्येतर गतिविधियों की एक तरह से अपनी ही एक अनूठी संस्कृति स्थापित की है । यहां तक कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय विकासशील देशों जैसे अफ्रीकी, तंजानिया, नेपाल, तिब्बत आदि  के छात्रों को आकर्षित और शामिल करने के लिए एक अलग सेल की भी स्थापना की है ।इसके साथ ही उन्होंने पुणे में विश्व स्तरीय शिक्षा प्रदान करने पर अपना ध्यान केंद्रित करते हुए,MITयूनिवर्सिटी ऑफ़ आर्ट, डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी की भी स्थापना की जो अब महाराष्ट्र के 5 वें निजी राज्य विश्वविद्यालय के रूप में रैंक करता है। 

अगर हम डॉ. मंगेश कराड कि उप्लभ्धियाँ  देखें तो हम पाएंगे की उन्हें 2015 को मणिरत्न शिक्षा गौरव पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।  इसके साथ ही उन्होंने 2015 का IT AWARD भी जीता। डॉ.  कराड वर्ष 2015 में योजना आयोग के सदस्य के रूप में भी नियुक्त किये गए थे और वे वर्ष 2000 से अखिल भारतीय प्रबंधन संघ पुणे का अध्यक्ष पद भी सम्हाल रहे हैं और इसके साथ ही वे पुणे विश्वविद्यालय के सीनेट सदस्य भी हैं । 

आज MIT ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट, डॉ. मंगेश कराड कि अगुवाई में अपने 34 सालों के स्वर्णिम सफ़र में अपने 72 शिक्षा संस्थानों के साथ हर साल 50000 से अधिक छात्रों को स्वर्णिम भविष्य प्रदान कर रहा है।

डॉ.मंगेश कराड 16 मई शनिवार शाम 5 बजे हमारे साथ नवभारत FB LIVE-LOCKDOWN VIBES 2 और फेसबुक पेज पर  (https://www.facebook.com/enavabharat)रूबरू होंगे।