Pune-fire

    पुणे. चंद माह पहले एक केमिकल कंपनी में भीषण आग लगने और कई कर्मचारियों की मौत होने की घटना घटी थी। इसके बाद गुरूवार की सुबह पुणे फिर एक बार भीषण अग्निकांड का गवाह बना। सिंहगढ़ रोड स्थित नांदेड़ फाटा  (Nanded Phata)परिसर के भाऊ इंडस्ट्रियल इस्टेट (Bhau Industrial Estate) में रही एक केमिकल कंपनी (Chemical Company) में आग (Fire) लग गई। इसमें झुलसकर एक व्यक्ति की मौत (Death)हो गई, जबकि अपनी जान बचाने के लिए ऊंचाई से कूद पड़े तीन कर्मचारी घायल (Injured) हुए हैं। उनका अस्पताल में इलाज जारी है। बताया जा रहा है कि यहां आग लगने के बाद लगातार विस्फोट हो रहे थे। जिससे पूरा इलाका गूंजता रहा।

    भाऊ इंडस्ट्रियल इस्टेट की बालाजी इंडस्ट्रीज नामक कंपनी में यह आग लगी है। यहां पर केक पर लगाये जाने वाले स्पार्कल का बारूद तैयार किया जाता है। इस आग में जिस व्यक्ति की मौत हुई है वह पूरी तरह से झुलस गया है जिसके चलते उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है। इसलिए मृतक की पहचान के लिए शव का डीएनए कराया जाएगा। 

     जान बचाने के लिए ऊंचाई से कूदे

    हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से जारी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मृत व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि कंपनी का मालिक है। घायलों में दो महिलाओं का समावेश है।उनके नाम विनायक गौरीशंकर कोकटणूर, रमा शरणप्पा गायकवाड और मीनाक्षी अमोल सोनवणे है।ये तीनों अपनी जान बचाने के लिए 15- 20 फीट ऊंचाई से कूदे थे। इनमें से दो लोगों के पैर फैक्चर हुए हैं जबकि मीनाक्षी मामूली रूप से चोटिल हुई हैं।आग लगी तब कंपनी में 18 लोग काम कर रहे थे ये सभी वक्त रहते बाहर भाग निकलने में सफल रहे। इससे बड़ी अनहोनी टल सकी।

    ज्वलनशील पावडर को बैरल से बाहर निकालते वक्त विस्फोट  

    दमकल और कंपनी की कर्मचारी महिलाओं से मिली जानकारी के अनुसार, कंपनी के मालिक दत्तानंद बेंद्रे आज सुबह ज्वलनशील पावडर को बैरल से बाहर निकाल रहे थे तभी अचानक विस्फोट हुआ और उससे आग लग गई।धमाके की आवाज सुनकर सभी कर्मचारी बाहर की ओर भागे।तीन कर्मचारी अपनी जान बचाने के लिए ऊंचाई से कूद पड़े। हालांकि एक व्यक्ति बाहर निकलने में असफल रहने से उसकी मौत हो गई। आग की खबर मिलते ही पीएमआरडीए के मुख्य दमकल अधिकारी देवेंद्र पोटफोडे, दमकल केंद्र प्रमुख सुजित पाटील, अतुल रोकडे, सोन्याबापू नांगरे, विशाल घोडे, शुभम मिरगुंडे, पंकज माली, किशोर कालभोर, श्रीमंत आढाव, शुभम माली, अक्षय तांबे,  सुरज इंगवले, ओंकार इंगवले, अभिषेक गोणे, पुणे महानगरपालिका के दमकल विभाग के गणेश भंडारी, प्रसाद कदम, पंकज इंगवले, राहुल मालुसरे, श्रीकांत वाघमोडे, तुषार पवार, प्रभारी अधिकारी सुभाष जाधव आठ वाहनों के साथ मौके पर पहुंचे। करीबन तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। पुणे ग्रामीण पुलिस बल के अप्पर अधीक्षक विवेक पाटील, हवेली उपविभागीय पुलिस अधिकारी सई भोरे-पाटील, पुलिस निरीक्षक सदाशिव शेलार, सहायक निरीक्षक नितीन नम, निरंजन रणवरे आदि भी अपनी टीमों के साथ यहां पहुंचे। इस घटना से पूरे पुणे में खलबली मच गई है।