arrest
File

    पुणे. औषधि वनस्पति की खेती करने पर उसकी फसल खरीदने का झांसा देकर किसानों से धोखाधड़ी किए जाने का चौंकानेवाला मामला सामने आया है। इस मामले में पुणे (Pune), सोलापुर (Solapur) और रायगड (Raigad) जिलों के 500 से ज्यादा किसानों (Farmers) के साथ करीबन साढ़े 23 करोड़ रुपए की ठगी (Fraud) की गई है। इस मामले में पुणे पुलिस (Pune Police) की आर्थिक अपराध शाखा ने ऋषिकेश लक्ष्मण पाटणकर (38) नामक आरोपी को गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ राहुल शहा (46) ने शिकायत दर्ज कराई है। इसके मुताबिक, पाटणकर के खिलाफ महाराष्ट्र निवेशकों के हित संबंधों का संरक्षण अधिनियम के अनुसार सहकार नगर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। 

    इस बारे में पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी ऋषिकेश पाटणकर ने जीरो हर्बल एग्रो डेवलपर प्रा. लिमिटेड कंपनी की स्थापना की।  उसने कई किसानों और निवेशकों से अपने खेतों में शतावरी और अश्वगंधा की खेती करने का आग्रह किया। आने वाली फसल को खुद खरीदने और उन्हें हर साल 3 लाख रुपए प्रति एकड़ का भुगतान करने का झांसा देता था। कंपनी के पास 50 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से जमा करने के बाद, कंपनी की ओर से पौध प्रदान करने, उन्हें खुद संक्रमित करने, सुपर विजन करने, उर्वरक प्रदान करने का वादा किया और एक साल बाद, कंपनी जमीन की कटाई और परिवहन करेगी और किसानों को मौके पर ही भुगतान करने का आश्वासन दिया। उसके झांसे में आकर सोलापुर, पुणे, रायगड समेत कई जिलों के किसानों ने उसकी कंपनी से कंपनी की ओर से पौध लगाकर बुवाई की।  18 महीने बाद माल भी निकाला, लेकिन किसानों को भुगतान नहीं किया गया।  

    आर्थिक अपराध शाखा ने किया अरेस्ट

    पुणे के अरण्येश्वर स्थित कंपनी के कार्यालय में पिछले दो साल से किसान रुपए की मांग रहे हैं। इसके अलावा पीड़ित किसानों ने केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक से भी मुलाकात की। हालांकि, कोई फायदा नहीं हुआ, तब किसानों ने आखिरकार पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता से मुलाकात की और उन्हें सच्चाई बताई।  उसके बाद आर्थिक अपराध शाखा ने इस मामले की जांच कर ऋषिकेश पाटणकर को गिरफ्तार किया है। उसने कई किसानों और निवेशकों के साथ कुल 23 करोड़ 45 लाख एक हजार 994 रुपए की धोखाधड़ी की है। पुलिस ने पाटणकर के खिलाफ महाराष्ट्र निवेशकों के हितसंबंधों का संरक्षण अधिनियम के अनुसार मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। अब पुलिस यह जानने में जुटी है कि उसके साथ ठगी के इस गोरखधंधे में और कौन शामिल है और उसने और किन-किन लोगों के साथ ठगी की है।