पुणे में कोयता और वाहनों में तोड़फोड़ कर दहशत फैलाने वाला गैंग गिरफ्तार

    पुणे: कोयता लेकर दहशत (Panic) फैलाने और वाहनों में तोड़फोड़ करने वाले गैंग (Gang) के बदमाशों को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है। इस गिरोह के सदस्यों ने समर्थ और चतुःशृंगि पुलिस थाने की सीमा में वाहनों की तोड़फोड़ की थी। संबंधित मामले में शुभ शिवाजी खंडागले (21), विनायक गणेश कापडे (20), यश दत्ता हेलेकर (21) और साईंनाथ विठ्ठल पाटोले (23) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इनके 2 नाबालिग साथियों को भी हिरासत में लिया है। इस मामले की प्राथमिकी समर्थ पुलिस स्टेशन में दर्ज है।

    गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों के खिलाफ पुलिस रिकॉर्ड में पहले से ही कई प्राथमिकी दर्ज हैं। मंगलवार पेठ में स्वरूपवर्धिनी स्कूल के सामने सुबह-सुबह कार से आए हथियारबंद लोगों ने दहशत फैलाते हुए खड़े वाहनों में भी तोड़फोड़ की थी। हाथ में डंडे और कोयते लहराते हुए आरोपियों ने इलाके में दहशत फैला दी। उसके बाद वे कार से फरार को गए। 

    पुलिस ने खंगाला सीसीटीवी फुटेज

    समर्थ पुलिस ने जांच के दौरान इलाके के कई सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले और टेक्निकल जांच भी किया, जिसमे पुलिस को कार का नंबर मिला। जिसके बाद आरोपियों के बारे में जानकारी मिली, जिसके अनुसार इन चारों को परिमंडल एक की उपायुक्त डॉ. प्रियंका नारनवरे, सहायक आयुक्त सतीश गोवेकर, वरिष्ठ निरीक्षक विष्णु ताम्हाणे, पुलिस निरीक्षक (अपराध) उल्हास कदम, सहायक निरीक्षक संदीप जोरे, निलेश साबले, श्याम सुर्यवंशी, शुभम देसाई और उनकी टीम ने किया। जानकारी के मुताबिक आरोपियों की मंशा इलाके में दहशत निर्माण की थी।