gun
File Photo

    पुणे : दो गैंगों के बीच दिनदहाड़े फायरिंग (Firing) की घटना से पुणे (Pune) में फिर एक बार गैंगवार (Gang war) भड़कने के आसार नजर आ रहे हैं। शुक्रवार की दोपहर दो गैंगों के बीच फायरिंग हुई जिसमें एक शातिर बदमाश समेत दो लोगों की मौत (Death) हो गई, जबकि अन्य एक गंभीर रूप से घायल (Injured) हो गया। मरनेवालों में गैंगस्टर संतोष संपतराव जगताप शामिल है। यह दिल दहलानेवाली घटना पुणे के उरुली कांचन में एक होटल के सामने घटी है। इससे समस्त जिले में खलबली मच गई है। 

    संतोष जगताप दौंड तालुका के राहू में हुए दोहरे हत्याकांड का मुख्य आरोपी है। राहू में अवैध रेत उत्खनन के मसले पर 2011 में दौंड बाजार समिति के तत्कालीन निदेशक गणेश सोनवणे और उनके चचेरे भाई रमेश सोनवणे की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या की गई थी। इसमे संतोष मुख्य आरोपी था। उरुली कांचन में पुणे-सोलापुर हाइवे पर सोनाई होटल के सामने आज दोपहर तीन बजे के करीब उस पर फायरिंग की गई। इस घटना में जगताप के बॉडीगार्ड ने भी विरोधी गुट पर गोलियां चलाई जिसमें उस गुट का एक सदस्य भी घायल हुआ। एक बॉडीगार्ड भी गोली लगने से घायल होने की जानकारी मिली है। 

    जमानत पर जेल से बाहर आया

    पुलिस से मिली प्राथमिक जानकारी के अनुसार, संतोष जगताप दोहरे हत्याकांड में जमानत पर जेल से बाहर आया है। वह एक गैंग से जुड़ा है और उसका राहु में रेत उत्खनन का कारोबार है। आज दोपहर वह अपने साथियों के साथ उरुली कांचन के तलवाडी चौक स्थित सोनाई होटल में आया था। यहां से चाय पीकर निकलकर अपनी गाड़ी में बैठते वक्त एक कार में सवार होकर आए हमलावरों ने उसपर एक के बाद एक पांच राउंड फायरिंग की। ये गोलियां उसकी छाती, कमर में लगी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल होकर गिर गया। एक गोली उसके बॉडीगार्ड को भी लगी वह भी घायल हो गया। बचाव में संतोष और उसके बॉडीगार्ड ने भी हमलावरों पर जवाबी फायरिंग की जिसमें एक हमलावर भी घायल हुआ है।

    पुणे में फिर एक बार गैंगवार भड़कने के आसार 

    फायरिंग के बाद अन्य हमलावर वहां से भाग निकले। इसके पश्चात संतोष, उसके बॉडीगार्ड और विरोधी गुट के घायल को पास के अस्पताल में ले जाया गया। यहां से उन्हें ससून हॉस्पिटल में रेफर किया गया। इलाज के दौरान संतोष जगताप समेत दो लोगों की मौत हो गई, जबकि अन्य एक गंभीर रूप से घायल का इलाज जारी है। फायरिंग की इस सनसनीखेज वारदात की जानकारी मिलते ही पुणे पुलिस के आला अधिकारियों की टीमें मौके पर पहुंची। इस बारे में स्थानीय लोणी कालभोर पुलिस थाने में मामला दर्ज करने का काम जारी है। स्थानीय पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच की टीमें हमलावरों की खोजबीन में जुट गई है। बहरहाल इस वारदात से समस्त पुणे जिले में सनसनी फैल गई है। इससे पुणे में फिर एक बार गैंगवार भड़कने के आसार नजर आ रहे हैं।