Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation Commissioner Rajesh Patil

    पिंपरी: पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल (Pimpri-Chinchwad Municipal Commissioner Rajesh Patil ) ने उपायुक्त, सहायक आयुक्त के कामकाज में भारी बदलाव किए जाने से महानगरपालिका (Municipal Corporation) के गलियारों में खलबली मच गई है। महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल को महानगरपालिका में शामिल हुए फरवरी महीने में एक साल पूरे हो रहे हैं। उनको प्रशासन की अच्छी समझ है। कुछ अधिकारियों ने कमिश्नर (Commissioner) का विश्वास अर्जित किया है। इसी पृष्ठभूमि में महानगरपालिका कमिश्नर राजेश पाटिल ने उपायुक्तों और सहायक आयुक्तों के कामकाज में ये बदलाव किए गए है। 

    चुनाव विभाग के सहायक आयुक्त बालासाहेब खांडेकर को प्रशासन विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। स्काई लाइसेंसिंग के सहायक आयुक्त नीलेश देशमुख को कर संग्रह की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उपायुक्त सुभाष इंगले के पास से प्रशासन विभाग हटा दिया गया है और केवल उद्यान विभाग को जिम्मेदारी दी गई है। उपायुक्त स्मिता जागड़े को कर संग्रहण और कराधान विभाग के पद से हटाकर एलबीटी और पशु चिकित्सा विभाग को सौंपा गया है।  वह पिंपरी विधानसभा क्षेत्र के मतदाता पंजीकरण अधिकारी के पद के लिए भी जिम्मेदार होंगे।

    बालासाहेब खांडेकर को मिला अतिरिक्त प्रभार 

    सहायक आयुक्त बालासाहेब खांडेकर को चुनाव विभाग, सतर्कता समिति के प्रशासनिक कर्तव्यों को बरकरार रखते हुए प्रशासन विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था। सहायक आयुक्त नीलेश देशमुख को स्काई साइन लाइसेंस विभाग के साथ कर संग्रह विभाग की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई है। वह चिंचवड़ विधानसभा क्षेत्र के मतदाता पंजीकरण अधिकारी के पद के लिए जिम्मेदार होंगे। सहायक आयुक्त राजेश आगले के पद से प्रशासन को हटा दिया गया है और केवल ‘ई’ को ही क्षेत्र कार्यालय का प्रभार दिया गया है। हालांकि सहायक आयुक्त अन्ना बोडडे के पास का जनसंपर्क विभाग सहायक आयुक्त प्रशासन वामन नेमाने को सौंपा गया है।