arrest
प्रतीकात्मक तस्वीर

    पुणे : किन्नर (Transgender) बनकर चोरी (Stealing) करनेवाले एक आरोपी को पुणे की जेजुरी पुलिस ने गिरफ्तार (Arrested) कर लिया है। जांच में आरोपी के किन्नर नहीं होने का खुलासा हुआ है। उसका नाम अभिषेक रावसाहेब भोरे (27) है। उसे सासवड कोर्ट ने 4 दिनों के लिए पुलिस कस्टडी (Police Custody) में भेज दिया है।

    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, जेजुरी में एक कारोबारी महिला को अपना कारोबार शुरू करने के लिए सह कलाकार की जरुरत थी। फेसबुक पर उसकी रानी नामक एक किन्नर दोस्त थी। उसने सह कलाकार के रूम में काम करने की इच्छा जताई। फेसबुक फ्रेंड होने और एक दो बार जेजुरी आकर रुकने के कारण उसे लेकर उसे कोई संदेह नहीं था। उसने उसे सह कलाकार के रूप में शामिल करने का निश्चय किया और जेजुरी बुलाया। वह ढोंगी अभिषेक भोरे के साथ दो दिन रही। जागरण, पार्टी की वजह से सब उसमें व्यस्त थे। इसका फायदा उठाते हुए ढोंगी किन्नर ने डेढ़ तोला सोने के मंगलसूत्र, माल और कैश 6 हज़ार रुपए सहित 60 हज़ार का माल चोरी कर लिया।

    जेजुरी पुलिस ने किया अरेस्ट

    इस घटना की जानकारी सामने आने के बाद महिला ने जेजुरी पुलिस से इसकी शिकायत कर दी। ढोंगी किन्नर ने महिला को बताया था कि वह सातारा का रहने वाला है, लेकिन जांच में पता चला कि आरोपी सातारा का नहीं, बल्कि सोलापुर का है। इसके बाद जेजुरी पुलिस ने पुलिस निरीक्षक सुनील महाडिक के मार्गदर्शन में शिकायतकर्ता के साथ पुलिस उपनिरीक्षक चंद्रकांत झेंडे, पुलिस हवलदार दशरथ बनसोडे, प्रवीण शेंडे, धर्मराज खांडे की टीम सोलापुर गई और वहां से आरोपी को पकड़ लिया गया। पुलिस ने उसके पास से चोरी का माल जब्त कर लिया है। सासवड कोर्ट में उसे पेश किया गया था जहां से उसे 4 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है।