Pimpri Chinchwad Municipal Corporation

    पिंपरी. सभापति पद पर मौका न मिलने और आला नेताओं द्वारा आखिर तक झुलाए रखने से नाराज भाजपा (BJP) के नगरसेवक रवि लांडगे (Corporator Ravi Landge) ने स्थायी समिति सदस्य (Standing Committee Member) पद से इस्तीफा (Resignation) दिया है। इससे रिक्त हुई सीट पर 20 सितंबर को पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) की सर्वसाधारण सभा में नए सदस्य की नियुक्ति की जाएगी। रिश्वतखोरी के मामले से विवादों से घिरी और बदनामी का सामना कर रही स्थायी समिति में भाजपा के किस नए सदस्य की नियुक्ति की जाएगी? इसकी उत्सुकता है।

    मार्च माह में पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका स्थायी समिति में नए सदस्यों की नियुक्ति की गई। इसमें रवि लांडगे जिन्होंने महानगरपालिका के पिछले आम चुनाव में निर्विरोध चुनकर आकर भाजपा की जीत का खाता खोला, समेत अन्य सदस्यों की नियुक्ति की गई। उसके बाद एड. नितिन लांडगे को समिति का सभापति चुना गया, जबकि रवि लांडगे इस पद के लिए बड़े दावेदार थे। उनकी दावेदारी खारिज होने से नाराज होकर उन्होंने सदस्य पद से ही इस्तीफा दे दिया। अभी तक उन्होंने एक भी बैठक में उपस्थिति नहीं दर्शाई। इसके चलते उनकी सदस्यता रद्द हो गई औऱ उनकी जगह नए सदस्य की नियुक्ति 20 सितंबर की सर्वसाधारण सभा में की जा रही है। 

    रवि लांडगे एक भी मीटिंग में नहीं थे उपस्थित 

    विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा शहराध्यक्ष और विधायक महेश लांडगे ने रवि लांडगे जोकि तब विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में थे, को स्थायी सभापति बनाने का वचन दिया था। वचनपूर्ति नहीं होने पर रवि लांडगे नाराज होकर स्थायी समिति की एक भी बैठक में शामिल नहीं हुए। बीएमसी एक्ट नियमानुसार अगर कोई सदस्य लगातार चार मीटिंग में उपस्थित नहीं होता तो उसकी सदस्यता अपने आप रद्द हो जाती है। नगरसचिव कार्यालय की ओर से 20 सितंबर को होने वाली सर्वसाधारण सभा में नए सदस्य नियुक्ति की जाएगी। हालिया स्थायी समिति में रिश्वतखोरी का मामला सामने आया है। इसके चलते रवि लांडगे की जगह किस नए सदस्य की नियुक्ति की जाएगी? इस पर सबकी निगाहें टिकी हुई है। बहरहाल पिछले कुछ दिनों से रवि लांडगे राष्ट्रवादी कांग्रेस के पाले में सक्रिय नजर आ रहे है।