ct scan
File

    पिंपरी. मनुष्यबल आपूर्ति के बाद अब पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के अस्पतालों (Hospitals) के विभिन्न विभागों का निजीकरण (Privatization) करने का फैसला सत्तादल भाजपा (BJP) ने किया है। महानगरपालिका  के अस्पतालों के सोनोग्राफी (Sonography), एमआरआई (MRI), सीटी स्कैन (CT Scan), कैथ लैब, एक्सरे पैथोलॉजी विभाग, डायलिसिस और सोनोग्राफी आदि टेस्ट करने का ठेका निजी कंपनी को देने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए अस्पताल में जगह, बिजली और पानी मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा। हालिया हुई सर्वसाधारण सभा उपसुझाव के जरिए इसका प्रस्ताव पारित किया गया है। 

    इससे पहले आकुर्डी के प्रभाकर कुटे मेमोरीयल अस्पताल में 14 और थेरगांव हॉस्पिटल में 28 आईसीयू बेड के विभागों के लिए मनुष्यबल की आपूर्ति के लिए सवा करोड़ 44 हजार रुपए खर्च का प्रस्ताव पारित किया गया है। 

    जगह, बिजली और पानी मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा

    पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका के पिंपरी कैम्प के नए जीजामाता अस्पताल में एमआरआई, सीटी स्कैन, कैथ लैब, एक्सरे, पैथोलॉजी विभाग प्राइवेट पब्लिक पार्टनशिप (पीपीपी) में ‘ट्रस्ट हेल्थ केयर फाउंडेशन’ द्वारा शुरू किया गया है। यहां राजीव गांधी जीवनदायी स्वास्थ्य बीमा योजना और महात्मा फुले स्वास्थ्य योजना का लाभार्थी मरीजों को मिलने के लिए एमआरआई, कैथ लैब की जांच मुफ्त में की जाएगी। इससे शहर के आर्थिक दृष्टि से कमजोर घटकों को लाभ मिलेगा। पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका द्वारा तय की गई दरों के अनुसार ‘ट्रस्ट हेल्थ केयर फाउंडेशन’ विभिन्न जांचों के लिए रेट तय करेगा। इसके लिए हॉस्पिटल में प्रयोगशाला, एमआरआई, सीटी स्कैन, कैथ लैब और एक्सरे के लिए पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका द्वारा जगह, बिजली और पानी मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा। 

    महानगरपालिका ने तय किए दर

    महानगरपालिका के विभिन्न 8 हॉस्पिटलों में महिला रोग विभाग के लिए सर्विकोस्कोप की 10 मशीनें भंडार विभाग ने खरीदी हैं। इन मशीनों के द्वारा महिला मरीजों की जांच करने का काम भी प्राइवेट संस्था द्वारा किया जाएगा। थेरगांव हॉस्पिटल में मुफ्त डायलीसीस सेंटर शुरू करने का काम ओम जय आनंद चैरिटेबल ट्रस्ट को सौंपने का प्रस्ताव स्थायी समिति ने 11 अगस्त को पारित किया था। हालांकि सर्वसाधारण सभा में यह प्रस्ताव खारिज कर नई संस्था को काम सौंपने का प्रस्ताव पारित किया गया। अब पुणे के किडनी केयर डायलिसिस सेंटर के माध्यम से यह सेंटर चलाया जाएगा। राजीव गांधी जीवनदायी योजना, आयुष्यमान भारत योजना, महात्मा फुले योजनाओं का लाभ भी यहां दिया जाएगा। सांगवी के इंदिरा प्रसुतिगृह में सोनोग्राफी, एक्स रे, पैथॉलॉजी विभाग लाईफ केअर मल्टिस्पेशालिस्ट हॉस्पिटल की ओर से शुरू किया जा रहा है। इसके लिए महानगरपालिका द्वारा दर तय किए गए हैं।