6 cases of Omicron in Pimpri Chinchwad, Maharashtra, Municipal Commissioner Rajesh Patil said – waiting for reports of another 10, will issue guidelines soon
Photo:ANI

    पिंपरी: पेवर ब्लॉक (Paver Block) पर खर्च बढ़ रहा है इसलिए अगले 3 साल तक बड़े, मुख्य सड़कों (Main Roads) के काम के लिए जो फुटपाथ विकसित किए जाएंगे, पेवर ब्लॉक केवल उसी स्थान पर स्थापित किए जाने चाहिए। पेवर ब्लॉक को अन्य पूंजीगत के साथ-साथ राजस्व कार्यों के बजट में शामिल नहीं किया जाना चाहिए। पेवर ब्लॉक पर होने वाले खर्च पर रोक लगनी चाहिए। पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के प्रशासक और कमिश्नर राजेश पाटिल (Commissioner Rajesh Patil) ने सिविल इंजीनियरिंग विभाग को आदेश दिया है कि जहां जरूरत हो वहां कांक्रिटीकरण की जाए।

    पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका हर साल बड़ी संख्या में फ़र्श ब्लॉक करता है। इसमें मुख्य रूप से पुराने ब्लॉकों को नए के साथ बदलना, ग्रे ब्लॉकों को रंगीन ब्लॉकों से बदलना, पुराने ब्लॉकों को शहरी स्ट्रीट, स्मार्ट सिटी आदि की अवधारणा के अनुसार शॉट ब्लास्ट / टेक्सटाइल ब्लॉकों से बदलना शामिल है। इन कार्यों में काफी पूंजी खर्च होती है।

    खर्च को कम करने की कवायद

    इसका उद्देश्य विभिन्न महानगरपालिका के अधिकार क्षेत्र में पेवर ब्लॉकों की संख्या को कम करना और इसके बजाय कांक्रीट के उपयोग पर जोर देना है। उनके पूंजीगत व्यय पर तनाव कम होने के कारण पेविंग ब्लॉकों के उपयोग को कम करने के लिए वहां क्या उपाय किए जा रहे हैं? इसका अध्ययन करते हुए पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका क्षेत्र में पहले से स्थापित पेवर ब्लॉकों की लागत के साथ-साथ रखरखाव और मरम्मत की वार्षिक लागत को देखते हुए, नए पेवर ब्लॉकों के निर्माण के बजाय आंतरिक छोटी सड़कों को कंक्रीट करना फायदेमंद होगा। 

    महानगरपालिका कमिश्नर ने दिए आदेश

    अगले 3 साल तक बड़े, मुख्य सड़कों के काम के लिए जो फुटपाथ विकसित किए जाएंगे, पेवर ब्लॉक केवल उसी स्थान पर स्थापित किए जाने चाहिए। पेवर ब्लॉक को अन्य पूंजी और राजस्व कार्यों के बजट में शामिल नहीं किया जाना चाहिए और पेवर ब्लॉक पर होने वाले खर्च को रोका जाना चाहिए। जहां आवश्यक हो वहां कांक्रीटिंग की जानी चाहिए। कमिश्नर पाटिल ने इस संबंध में वार्ड स्तर पर उचित सावधानी बरतने के आदेश दिए हैं।