Excise department official arrested for taking bribe in Thane, Maharashtra, demand was made to pay Rs 50,000 every month for not taking action
File Photo

    पिंपरी: डेवलपमेंट प्लान (DP) पर अभिप्राय देने के लिए तीन लाख रुपए की रिश्वत मांगने के मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) ने पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के सर्वेयर (Surveyor) को गिरफ्तार किया है। पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका मुख्यालय में यह कार्रवाई की गई।

    संदीप लबडे ऐसा गिरफ्तार किए गए सर्वेयर का नाम है, जो महानगरपालिका के नगर रचना विभाग में कार्यरत है। इस बारे में एक 38 वर्षीय शिकायतकर्ता ने शिकायत की है।

    एसीबी में की शिकायत 

    एसीबी से मिली जानकारी के अनुसार, वादी जिस कंपनी में काम करता है उस कंपनी के डीपी पर महानगरपालिका के नगररचना से अभिप्राय मिलना जरूरी है। इसके लिए सर्वेयर संदीप लबड़े ने साढ़े तीन लाख रुपए की मांग की। बाद में समझौते के तहत बात तीन लाख रुपए पर तय हुई। इस बीच वादी ने एसीबी से शिकायत कर दी। एसीबी की टीम ने शिकायत की पुष्टि करने के बाद लबड़े को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ पिंपरी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया।

    अब तक 32 महानगरपालिका अधिकारी और कर्मचारियों को पकड़ा 

    बहरहाल पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका में 1997 से अब तक के 25 सालों में एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा की गई यह 32वीं कार्रवाई है। इसमें 100 रुपए से लेकर 12 लाख रुपए तक की रिश्वत लेते हुए 32 महानगरपालिका अधिकारी और कर्मचारियों को पकड़ा गया है। इसमें से कुछ लोगों को महानगरपालिका सेवा से निष्कासित किया गया जबकि कुछ लोगों के निर्दोष साबित होने से अदालत के आदेश से उन्हें पुनः महानगरपालिका सेवा में शामिल कर लिया गया। एसीबी की बड़ी कार्रवाइयों में तत्कालीन महानगरपालिका कमिश्नर के पीए औऱ स्थायी समिति के सभापति को रिश्वत लेने के मामले में की गई गिरफ्तारी शामिल है।