दिवाली फराल के कार्यक्रम में फूटे ‘सियासी पटाखे’, उद्योगनगरी के ‘किंगमेकर्स’ की बंद कमरे में आधे घंटे तक चली गुफ्तगू

    पिंपरी:  भले ही पिंपरी-चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri-Chinchwad Municipal Corporation) के आम चुनाव (Election) साढ़े तीन महीने बाद होने हैं, लेकिन यहां सियासी पटाखे अभी फूटने लगे हैं। हालिया दिवाली फराल (Diwali Faral) के एक कार्यक्रम में कुछ ऐसी ही सियासी आतिशबाजी देखने को मिली। यह कार्यक्रम शहर में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के वरिष्ठ और एकमात्र विधायक अन्ना बनसोडे (Anna Bansode) द्वारा आयोजित किया गया था। इसमें अनौपचारिक बातचीत में एनसीपी ने हर हाल में सत्ता परिवर्तन होने का दावा किया। वहीं भाजपा (BJP) के वरिष्ठ नेता और विधायक लक्ष्मण जगताप ने (Laxman Jagtap) महानगरपालिका में केवल ‘पिंपरी-चिंचवड़करों’ की सत्ता आएगी कहकर गुगली डाली, जो शहर के सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है।

    चिंचवड़ कालभोरनगर स्थित विधायक अण्णा बनसोडे के प्रशस्त जनसंपर्क कार्यालय में संपन्न हुए इस दिवाली फराल के कार्यक्रम की एक और खास बात रही, जिसने सभी विचार करने पर विवश कर दिया। वह थी विधायक बनसोडे, विधायक जगताप और पिंपरी-चिंचवड़ की सियासत में ‘किंगमेकर’ की भूमिका निभानेवाले पूर्व महापौर और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता आजमभाई पानसरे की बन्द कमरे में करीबन आधे घंटे तक चली गुफ्तगू। 

    नहीं मिल सका बातचीत का ब्यौरा

    विधायक बनसोडे के कार्यालय में हुई इस गुफ्तगू का ब्यौरा नहीं मिल सका। पूछने पर नेताओं ने इतना भर कहा कि बड़े दिन बाद मिलने का मौका मिला तो हाल-चाल जान लिए एक दूसरे के। रहा सवाल महानगरपालिका चुनाव का तो अभी तक प्रभाग रचना भी जारी नहीं हुई है। बहरहाल इस कार्यक्रम में प्रभाग अध्यक्ष शैलेश मोरे, नगरसेवक शीतल शिंदे, प्रसाद शेट्टी, सनी ओव्हाल, विश्वास गजरमल समेत कई नेता, नगरसेवक व पदाधिकारी शामिल हुए।

    बीच बंद कमरे में हुई गुफ्तगू चर्चा का विषय बनी 

    उद्योगनगरी के सियासी गलियारों में विधायक अण्णा बनसोडे, विधायक लक्ष्मण जगताप और पूर्व महापौर आजमभाई पानसरे के बीच बंद कमरे में हुई गुफ्तगू चर्चा का विषय बनी हुई है क्योंकि शहर की सियासत में ये नेता ‘किंगमेकर’ के रूप में पहचाने जाते हैं। इसके अलावा इस दिवाली फराल के कार्यक्रम में पूर्व विधायक विलास लांडे भी मौजूद थे, लेकिन वे विधायक जगताप के आने तक का इंतजार न कर सके। उन्होंने संवाददाताओं के साथ की गई बातचीत में न केवल हर हाल में महानगरपालिका में सत्ता परिवर्तन का विश्वास जताया, बल्कि इस चुनाव में राष्ट्र्वादी कांग्रेस पार्टी की 80 सीटें जीतने का दावा किया।  पानसरे और बनसोडे ने भी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सत्ता में वापसी का दावा किया। 

    महानगरपालिका में पिंपरी-चिंचवडकरों की सत्ता आएगी: विधायक लक्ष्मण जगताप

    हालांकि भाजपा विधायक लक्ष्मण जगताप ने महानगरपालिका में पिंपरी-चिंचवडकरों की सत्ता आएगी, यह कहकर गुगली डालकर सभी को चौंका दिया। पिछले महानगरपालिका चुनाव में भी उन्होंने ‘नको बारामती, नको भानमती’ का नारा बुलंद कर सीधे-सीधे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेता अजीत पवार को चुनौती दी थी। इसके बाद लोकसभा चुनाव में भी उनकी ‘टैगलाइन’ को थोड़ा सा बदलकर शिवसेना के श्रीरंग बारणे दूसरी बार सांसद चुने गए। स्थानीय और बाहर के विवाद का एनसीपी को पिछले महानगरपालिका और लोकसभा दोनों चुनावों में खामियाजा भुगतना पड़ा है। अब भाजपा विधायक ने उक्त बयान देकर फिर एक बार इस विवाद को हवा दी है।