singh garh1

    पुणे:  सिंहगढ़ किले (Sinhagad Fort) के लिए महत्वाकांक्षी ई-बस सेवा ( E-Bus Service) परियोजना फ़िलहाल होल्ड (Hold) पर चली गयी है। मिली जानकारी के मुताबिक, पुणे महानगर परिवहन महामंडल लिमिटेड (PMPML) और वन विभाग (Forest Department) के बीच एक करार न हो पाने के चलते परियोजना शुरू होने से पहले ही रूक गई है। 

    अधिकारियों के मुताबिक, वन विभाग ने ई-बस के लिए प्रति यात्री राजस्व की मांग की है, जबकि पीएमपीएमएल इस पर राजी नहीं है। इसलिए निर्णय को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है।

    गोलेवाड़ी और सिंहगढ़ किले के बीच ई-बस सेवा शुरू होनी है

    उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, सांसद सुप्रिया सुले, डिविजनल कमिश्नर सौरभ राव, जिला कलेक्टर राजेश देशमुख, जिला पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख, पीएमपीएमएल के सीएमडी लक्ष्मीनारायण मिश्रा और अन्य ने 1 अक्टूबर 2021 को पीएमपीएमएल की ई-बस में सवार हो कर सिंहगढ़ का दौरा किया था। उस समय साफ था कि पीएमपीएमएल ई-बस यात्रियों को लेकर सिंहगढ़ घाट को पार कर सकती है। इसलिए अजीत पवार ने घोषणा की थी कि गोलेवाड़ी और सिंहगढ़ किले के बीच ई-बस सेवा शुरू होगी।

    गोलेवाड़ी में पार्क करने होंगे पर्यटकों को अपने वाहन  

    पीएमपीएमएल और वन विभाग के बीच दो-तीन दौर की चर्चा हुई, लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। जिसके चलते यह स्पष्ट नहीं है कि बस सेवा कब से शुरू होगी। योजना के तहत पर्यटकों को अपने वाहन गोलेवाड़ी में पार्क करने होंगे, जिसके लिए वन विभाग को पार्किंग स्थल बनाना होगा। वहां से पर्यटकों को किले तक पहुंचने के लिए पीएमपीएमएल ई-बस में सवार होना था।